Sports
नयी दिल्ली, तीन नवंबर (भाषा) खिलाड़ियों की सुरक्षा को लेकर चिंतित भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने मंगलवार को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) से अपील की कि वे पेशेवर स्तर पर खेलने के दौरान बल्लेबाजों के लिए हेलमेट पहनना अनिवार्य करें।


तेंदुलकर ने सनराइजर्स हैदराबाद के आलराउंडर विजय शंकर का वीडियो साझा किया जिनके सिर में उस समय गेंद लगी जब किंग्स इलेवन पंजाब के क्षेत्ररक्षक निकोलस पूरन ने बल्लेबाजी छोर पर गेंद फेंककर बल्लेबाज को रन आउट करने का प्रयास किया।


शुरुआत में इंडियन प्रीमियर लीग की आधिकारिक वेबसाइट पर डाले गए इस वीडियो में गेंद लगने के बाद शंकर को मैदान पर गिरा हुआ दिखाया गया और फिजियो को उनकी जांच के लिए मैदान पर आना पड़ा। यह बल्लेबाज भाग्यशाली था कि उन्होंने हेलमेट पहन रखा था।


तेंदुलकर ने ट्वीट किया, ‘‘खेल तेज होता जा रहा है लेकिन क्या यह सुरक्षित भी हो रहा है? हाल में हमने एक ऐसी घटना देखी जो खतरनाक हो सकती थी। स्पिनर हो या तेज गेंदबाज, पेशेवर स्तर पर बल्लेबाज के लिए हेलमेट पहनना अनिवार्य होना चाहिए। आईसीसी से आग्रह है कि इसे प्राथमिकता के रूप में लें।’’



इससे पहले नवंबर 2014 में आस्ट्रेलिया के घरेलू मैच के दौरान सीन एबट की गेंद पर बल्लेबाज फिलिप ह्यूज की दुखद मौत के बाद खिलाड़ियों की सुरक्षा को लेकर बहस शुरू हुई थी।


तेंदुलकर ने इस ट्वीट में बीसीसीआई, क्रिकेट आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड सहित सभी क्रिकेट बोर्ड को भी टैग किया है।


एक अन्य ट्वीट में तेंदुलकर ने रवि शास्त्री को टैग करके उस घटना को याद किया है जब एक प्रदर्शनी मैच के दौरान सुनील गावस्कर की फुलटॉस गेंद भारत के मुख्य कोच को लगी थी।


उन्होंने कहा, ‘‘इसने मुझे वह घटना भी याद दिलाई जब प्रदर्शनी मैच के दौरान गावस्कर की फुलटॉस बल्ले के ऊपरी हिस्से से टकराकर आपको लगी थी। यह गंभीर चोट हो सकती थी लेकिन भाग्य से ऐसा नहीं हुआ। ’’



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।
.
.
.
.
.