Sports

सिडनीः संन्यास ले चुके क्रिकेटरों का टी20 लीग में खेलना आम बात है लेकिन भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि जब वह संन्यास लेंगे तो दोबारा बल्ला नहीं पकड़ेंगे। जब यह पूछा गया कि क्या संन्यास लेने या बीसीसीआई के प्रतिबंध हटाने पर वह आस्ट्रेलिया की बिग बैश लीग में खेलेंगे तो कोहली ने कहा कि निश्चित तौर पर संन्यास लेने के बाद वह इस तरह के किसी टूर्नामेंट के लिए उपलब्ध नहीं होंगे। 
virat kohli image

आस्ट्रेलिया के खिलाफ शनिवार को होने वाले पहले एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच की पूर्व संध्या पर भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘देखिए मुझे नहीं पता कि भविष्य में इस तरह के रुख में बदलाव आता है या नहीं। जहां तक मेरा सवाल है तो एक बार संन्यास लेने के बाद और क्रिकेट खेलना, ईमानदारी से कहूं तो मुझे नहीं लगता कि मैं उन लोगों में शामिल हूं।’’
virat kohli image     

एबी डिविलियर्स और ब्रेंडन मैकुलम जैसे संन्यास ले चुके क्रिकेटर नियमित तौर पर आईपीएल और बिग बैश लीग जैसी टी20 लीग में खेलते हैं लेकिन कोहली ने कहा कि उनकी इस सूची मे जुड़ने में कोई रुचि नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘पिछले पांच साल में मैंने पर्याप्त क्रिकेट खेला है और मैं इस पर भी टिप्पणी नहीं कर सकता कि संन्यास लेने के बाद मैं पहली चीज क्या करूंगा क्योंकि मुझे नहीं लगता कि मैं दोबारा बल्ला उठाऊंगा।’’ कोहली ने कहा, ‘‘जिस दिन मैं खेलना बंद करूंगा उस दिन मेरी सारी ऊर्जा खत्म हो चुकी होगी और यही कारण है कि मैं क्रिकेट खेलना छोड़ दूंगा। इसलिए मुझे स्वयं के दोबारा मैदान पर उतरकर खेलने की संभावना नहीं दिखती।’’
virat kohli image         

कप्तान ने अपनी टीम के बल्लेबाजी क्रम की जमकर तारीफ की और कहा कि इंग्लैंड में 30 मई से शुरू हो रहे एकदिवसीय विश्व कप से पूर्व बल्लेबाजी क्रम काफी मजबूत नजर आ रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘पिछले 12 महीने में एकदिवसीय मैचों में हमारी बल्लेबाजी काफी मजबूत रही और इसमें सलामी बल्लेबाजों की बड़ी भूमिका रही। बीच में ऐसा चरण था जब हमने बीच के ओवरों की समस्या का हल निकाला और 25 से 40 ओवर तक अपनी बल्लेबाजी शैली में बदलाव का प्रयास किया।’’ कोहली का मानना है कि भारतीय टीम का संतुलन प्रत्येक विभाग में बेहतरीन है। 

.
.
.
.
.