Sports

मुंबई : राजस्थान रॉयल्स ने शुक्रवार को दिल्ली कैपिटल्स को 15 रनों से हरा दिया। इस मैच के आखिरी ओवर में अंपायर द्वारा नो बॉल ना देने पर विवाद खड़ा हो गया। अब इस पर राजस्थान रॉयल्स के मुख्य कोच कुमार संगकारा ने कहा कि अंपायर खेल को नियंत्रित करते हैं और वह यह तय नहीं कर सकते कि क्या स्वीकार्य है और क्या नहीं।

कुमार संगकारा ने कहा कि मुझे लगता है कि यह अंपायर है जो खेल को नियंत्रित करता है। आईपीएल में बहुत दबाव और तनाव होता है। चीजें किसी भी तरह से जा सकती हैं, जब आपके पास ऐसी स्थिति होती है, तो अंत में अंपायर स्थिति को नियंत्रित करते हैं और खेल चल रहा था। इसे मैं तरह ऐसे देखता हूं। मुझे नहीं लगता कि मैं वास्तव में यह तय कर सकता हूं कि क्या स्वीकार्य है और क्या नहीं।

संगकारा ने कहा कि अंत में खिलाड़ियों ही होते हैं जिन्हें खेलना पड़ता हैं। अंपायरों के पास खेल को बुलाने के मामले में एक कठिन काम होता है। सहायक स्टाफ के रूप में हमारा काम मूल रूप से खिलाड़ियों का समर्थन करना और खेल को खेलने देना है।  

गौर हो कि मैच में 223 रन का लक्ष्य का पीछा करने आई दिल्ली की टीम को आखिरी ओवर में 36 रन चाहिए थे। रोवमैन पॉवेल ने पहली तीन गेंदों पर 3 छक्के जड़ दिए। पर तीसरी गेंद पर मैच में बवाल पैदा हो गया जब अंपायर ने कमर से ऊपर जा रही गेंद को नो बॉल करार नहीं दिया। जिस कारण दिल्ली के कप्तान ऋषभ पंत ने दोनों बल्लेबाजों को क्रीज छोड़कर वापिस ड्रेसिंग रूम में आने को कहा। पर समझाने के बाद दोबारा मैच शुरू हुआ।

.
.
.
.
.