Sports

नई दिल्ली : टोक्यो ओलंपिक के उद्घाटन समारोह में भारतीय दल परेड में 21वें स्थान पर आएगा। परेड में 205 देशों के प्रतिनिध हिस्स ले रहे हैं। परेड में संयुक्त अरब अमीरात पहले 10 दलों में रहेगा। आम तौर पर आयोजन समिति द्वारा चुनी गई भाषा के अनुसार टीमें वर्णानुक्रम से स्टेडियम में प्रवेश करती हैं। अनाऊंसर सबसे पहले ओलिम्पिक की आधिकारिया भाषा फ्रेंच और अंग्रेजी में एक देश का नाम पुकारते हैं। ओलंपिक चार्टर के नियम 23 के अनुसार आखिर में चुनी गई भाषा में देश का नाम लिया जाता है। प्योंगचांग में 2018 शीतकालीन ओलंपिक में सभी देशों ने ‘हंगुल’ वर्णानुक्रम के अनुसार स्टेडियम में प्रवेश किया था, जबकि 2014 सोची शीतकालीन ओलंपिक में सिरिलिक वर्णमाला का उपयोग किया गया था।

ग्रीस करेगा लीड
क्योंकि ग्रीस को पुरातन व आधुनिक ओलिम्पिक का जन्मदाता माना जाता है। ऐसे में परेड के दौरान सबसे पहली इंट्री उनकी होगी। सबसे अंत में होस्ट सिटी यानी जापान के एथलीट स्टेडियम में आएंगे। इस बार रूस डोपिंग संबंधी नियमों के कारण ओलिम्पिक में खेलने से बैन हैं। लेकिन उनके एथलीट रूस ओलिम्पिक कमेटी के बैनर तले खेलेंगे। यह दल ग्रीस के बाद यानी दूसरे नंबर प स्टेडियम में एंट्री लेगा। 

जापानी वर्णानुक्रम है कारण
जापानी भाषा में इंडिया का ‘आई’ शब्द 21वां नंबर सुनिश्चित कर रहा है। भारत के लिए हॉकी कप्तान मनप्रीत सिंह और महिला बॉक्सर मैरीकॉम राष्ट्रीय झंडा उठाएंगे। बता दें कि जापानी वर्णानुक्रम के अनुसार यूएई शब्द अल्जीरिया, ऑस्ट्रेलिया, ऑस्ट्रिया से पहले आता है। ऐसे में वह इनसे आगे होंगे। यही नहीं, उज्बेकिस्तान और उरुगुवे भी इन देशों से पहले आएंगे।

.
.
.
.
.