Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए चौथे टेस्ट मैच में भारत ने शानदार ओवर ऑल प्रदर्शन करते हुए ना सिर्फ बाॅर्डर गावस्कर ट्राफी फिर से जीत ली बल्कि गाबा में ऐतिहासिक (पहली) जीत भी दर्ज की। मैच की दूसरी इनिंग में मोहम्मद सिराज ने पांच जबकि पूरे मैच में 6 विकेट्स अपने नाम किए थे। इस दौरान सिराज को नस्लीय भेदभाव का भी शिकार होना पड़ा लेकिन उन्होंने कहा कि इससे वह मानसिक रूप से और मजबूत हुए हैं। 

हैदराबाद पहुंचने पर सिराज ने संवादाताओं से बात करते हुए कहा, ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों ने मुझे गाली देना शुरू कर दिया, इसने मुझे मानसिक रूप से मजबूत बना दिया। इसे मेरे प्रदर्शन में बाधा नहीं बनने देना मेरी प्रमुख चिंता थी। मेरा काम यह बताना था कि मेरे साथ दुर्व्यवहार किया जा रहा है, मैंने पूरा मामला कप्तान अजिक्य रहाणे को बताया। अंपायरों ने हमें बताया कि आप मैदान से बाहर जा सकते हैं और खेल छोड़ सकते हैं लेकिन अज्जू (रहाणे) भाई ने अंपायर से कहा कि हम वापस नहीं जाएंगे, हम खेल का सम्मान करते हैं। 

गौर हो कि सिराज ने अब तक भारत के लिए सभी फॉर्मेट में मिलाकर कुल 7 मैच खेलें हैं। सिराज ने ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट डेब्यू करते हुए सीरीज के 3 मैचों में 13 विकेट लिए हैं। वहीं उन्होंने भारत के लिए एक वनडे मैच खेला जिसमें उन्हें कोई विकेट नहीं मिली है। वहीं टी20 में उन्होंने भारत के लिए 3 मैचों में 3 विकेट लिए हैं। 
 

.
.
.
.
.