IPL 2019
Sports

स्पोर्ट्स डेस्क: आईसीसी महिला टी20 वर्ल्ड कप का एक समय फेवरेट समझी जाने वाली भारतीय टीम को सेमीफाइनल मुकाबले में इंगलैंड से 8 विकेट से हार झेलनी पड़ी। हार के लिए कई दिग्गज क्रिकेटर ने सीधे तौर पर प्रमुख खिलाड़ी मिताली राज को न खिलाना माना था। लेकिन यह मामला थमने का नाम नहीं ले रहा। इस विवाद पर जमकर आलोचनाएं हो रही है। 
sunil gavaskar
इसी बीच टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर भी इससे काफी आहत हैं और वह मिताली राज के समर्थन में खड़े उतरे हैं। गावस्कर ने एक वेबसाइट से बातचीत में कहा, 'मैं मिताली के लिए बेहद दुखी महसूस कर रहा हूं। वह काफी अच्छी खेलती हैं। उन्होंने भारतीय क्रिकेट को अपने 20 साल दिए हैं। उन्होंने इस टूर्नामेंट में भी अच्छा स्कोर किया और दो मैचों में मैन ऑफ द मैच भी रहीं।'
PunjabKesari 
गावस्कर ने आगे कहा, 'वह एक मैच में चोटिल थीं, लेकिन अगले मैच में वह फिट हो गई थीं। ठीक इसके उलट यदि आप पुरुष टीम की बात करें तो क्या विराट एक मैच में चोटिल हो जाते हैं तो अगले नॉआउट मैच में वह पूरी तरह से फिट हो जाते हैं तो क्या आप उन्हें बाहर बैठाओगे। नॉकआउट मुकाबले में टीम को अपने बेस्ट खिलाड़ी को शामिल करना चाहिए था। आपको उनके अनुभव और क्लास की आवश्यकता है।'
PunjabKesari
कोच रमेश पोवार की इन हरकतों पर कमेंट करना कठिन होगा लेकिन यह साफ है कि जो उन्होंने मिताली को बाहर बिठाने का कारण दिया है, वह गलत है।' भारतीय महिला क्रिकेट टीम की वन-डे कप्तान मिताली राज ने बीसीसीआई को शिकायती पत्र लिखा, जिसमें उन्होंने कोच रमेश पोवार पर पक्षपात का आरोप लगाया। राज का आरोप है कि पोवार ने वेस्टइंडीज में वर्ल्ड टी-20 की शुरुआत से ही उन्हें अपमानित किया। 

.
.
.
.
.