Sports

सिंगापुर : पीवी सिंधू, साइना नेहवाल और किदाम्बी श्रीकांत की भारतीय तिकड़ी ने शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए गुरुवार को यहां 355,000 डालर राशि के सिंगापुर ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के एकल क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया। रियो ओलंपिक की रजत पदकधारी चौथी वरीयता प्राप्त सिंधू ने विश्व की 22वें नंबर की मिया ब्लिचफील्ट को 39 मिनट में 21-13, 21-19 से पराजित किया। यह डेनमार्क की खिलाड़ी के खिलाफ उनकी लगातार दूसरी जीत है। 

विश्व में छठे नंबर की सिंधू का अगला मुकाबला विश्व जूनियर चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता चीनी खिलाड़ी काइ यानयान से होगा। छठी वरीयता प्राप्त साइना को हालांकि कड़ी मशक्कत करनी पड़ी, हालांकि वह मलेशियाई ओपन के पहले दौर में पोर्नपावी चोचुवोंग से पहले दौर में मिली हार का बदला चुकता करने में सफल रही। उन्होंने थाईलैंड की इस शटलर पर दूसरे दौर में 21-16 18-21 21-19 की रोमांचक जीत दर्ज की। लंदन ओलंपिक की कांस्य पदकधारी अब अगले दौर में दूसरी वरीयता प्राप्त जापान की नोजोमी ओकुहारा से भिड़ेंगी। छठे वरीय श्रीकांत दूसरे गेम में पिछडऩे से बच गये और उन्होंने डेनमार्क के हैंस क्रिस्टियन सोलबर्ग विटिंगस को 21-12 23-21 से शिकस्त दी। अब वह जापान के शीर्ष वरीय केंटो मोमोटा से भिड़ेंगे जिन्होंने भारत के एच एस प्रणय का अभियान सीधे गेम में हराकर समाप्त कर दिया।

साइना जहां चोचुवोंग को हराने में कामयाब रहीं, वहीं उनके पति और साथी खिलाड़ी पारूपल्ली कश्यप मौजूदा ओलंपिक चैम्पियन चीन के चेन लोंग से कड़े मुकाबले के बाद करीब से हार गए। साल 2014 राष्ट्रमंडल खेलों के चैम्पियन कश्यप मैच को तीन गेम तक पहुंचाने में तो सफल रहे लेकिन चौथी वरीयता प्राप्त चीनी खिलाड़ी से 9-21 21-15 16-21 से हार गए। हालांकि प्रणय का सफर भी दुनिया के नंबर एक जापानी खिलाड़ी के हाथों 11-21 11-21 से हार के बाद खत्म हो गया।  समीर वर्मा ने हालांकि शानदार लय जारी रखते हुए चीन के लु गुआंग्जू को 21-15 21-18 से पराजित किया और अब वह दूसरे वरीय चीनी ताइपे के चोऊ टिएन चेन और डेनमार्क के जान ओ जोर्गेनसन के बीच होने वाले मुकाबले के विजेता के सामने होंगे।

प्रणव जेरी चोपड़ा और एन सिक्की रेड्डी की जोड़ी ने भी क्वार्टरफाइनल में प्रवेश कर लिया। उन्होंने 50 मिनट तक चले मुकाबले में हांगकांग की टांग चुन मान और से ङ्क्षयग सुएट की जोड़ी को 21-17 6-21 21-19 से मात दी। दिन के शुरू में सिंधू ने पहले गेम में शुरू में 3-0 से बढ़त बनाकर आखिर तक इसे बरकरार रखा लेकिन दूसरे गेम में स्कोर एक समय 8-8 से बराबरी पर था जबकि इसके बाद भारतीय खिलाड़ी एक समय 11-15 से पीछे भी थी। पिछले महीने इंडिया ओपन के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली सिंधू ने हालांकि वापसी करके स्कोर 17-17 किया और फिर मैच अपने नाम करने में देर नहीं लगाई।

.
.
.
.
.