Sports

नई दिल्ली : भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह ने कोविड-19 की परिस्थिति को ध्यान में रखते हुए कहा कि उनकी टीम को तोक्यो ओलंपिक खेलों से पहले कई बाधाओं का सामना करने के लिए मानसिक तौर पर तैयार रहना चाहिए। तोक्यो ओलंपिक खेलों को महामारी के कारण एक साल के लिये स्थगित कर दिया गया था। इनका आयोजन अब जुलाई-अगस्त 2021 में होगा।

मनप्रीत ने कहा, ‘पिछले साल की सबसे बड़ी सीख बाहरी चीजों से अपने लक्ष्य को प्रभावित नहीं होने देना थी। कई अनिश्चितताएं हो सकती हैं लेकिन हमें केवल उन चीजों को लेकर चिंता करनी चाहिए जो हमारे नियंत्रण में हैं और अपना सर्वश्रेष्ठ पाने की दिशा में काम करना चाहिए।' उन्होंने कहा, ‘इस साल ओलंपिक खेलों से पहले कई चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है और हमें इनके लिए मानसिक रूप से तैयार होने की जरूरत है।'

ओलंपिक में अब जबकि केवल 200 दिन का समय बचा है तब मनप्रीत और महिला टीम की कप्तान रानी रामपाल का मानना है कि खिलाड़ियों को तोक्यो में अपना लक्ष्य हासिल करने के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रयास करने होंगे। मनप्रीत ने कहा, ‘अगले 200 दिन हमारी जिंदगी के महत्वपूर्ण दिन होंगे। अगर हम तोक्यो के लिए भारतीय टीम में जगह बनाना चाहते हैं तो हमें अभ्यास और प्रतियोगिता में अपना शत प्रतिशत देना होगा।'

रानी ने सहमति जताई कि खिलाड़ियों को अगले कुछ महीनों में अपने खेल के सभी विभागों में सुधार करना होगा। उन्होंने कहा, ‘चार महीने तक चले पिछले राष्ट्रीय शिविर में हमने वास्तव में अपने पूर्व के स्तर तक पहुंचने के लिये कड़ी मेहनत की थी। अगले कुछ महीनों में हमारा ध्यान खेल के सभी पहलुओं पर सुधार करने पर होगा।' 

.
.
.
.
.