Sports

मुंबई : शनिवार को 17 गेंदों में 9 रन की केन विलियमसन की पारी ने कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ एक महत्वपूर्ण मैच में उनकी और उनकी टीम सनराइज़र्स हैदराबाद के संघर्ष को बढ़ा दिया। विलियमसन ने इस सीज़न 92.85 के स्ट्राइक रेट से 208 रन बनाए हैं जो कम से कम 100 रन बनाने वाले बल्लेबाज़ों में सबसे खराब स्ट्राइक रेट है।

पुणे में 178 रनों के लक्ष्य का पीछा करते समय विलियमसन लगातार डॉट गेंदें खेलते रहे। उन्होंने पावरप्ले में कुल 11 डॉट गेंदें खेलीं। वह पावरप्ले के अंतिम ओवर में आखिरकार शॉर्ट फाइन लेग के ऊपर स्कूप के प्रयास में बोल्ड हो गए। इयन बिशप और संजय मांजरेकर यह मानते हैं कि विलियमसन को निचले क्रम में आकर बल्लेबाज़ी करनी चाहिए क्योंकि हैदराबाद के लिए अब समय निकलता जा रहा है। 

मांजरेकर ने कहा कि मुझे लगता है कि अब समय आ गया है। एक और पारी और हम देखते हैं कि विलियमसन के साथ कुछ नहीं हो रहा है। एक विकेट गिरते ही आप सोच सकते हैं कि यह विलियमसन हैं और यह कोई बड़ा झटका नहीं है। लेकिन एक विकेट गिरने के बाद आप (हैदराबाद के बल्लेबाज़ी कोच) ब्रायन लारा को भी अपना सिर नीचे करते हुए देखते हैं। इस तरह से एक टीम का मनोबल टूट जाता है। इसके बाद त्रिपाठी अंदर आते हैं और वह थोड़ा चिंतित हो जाते हैं।

मांजरेकर ने आगे कहा कि इसके बजाय आप युवा खिलाड़ी ले आएं। वाशिंगटन सुंदर एक अच्छे सलामी बल्लेबाज़ हो सकते हैं। किसी और को आजमाएं और विलियमसन को कप्तान बनाएं क्योंकि आप कप्तान के रूप में उन पर भरोसा करना चाहते हैं लेकिन एक बल्लेबाज के रूप में मैं कहता रहता हूं कि उनकी फ़ॉर्म को देखते हुए उन्हें थोड़ा गैरज़रूरी बना दें। 
 

.
.
.
.
.