Sports

कराची : पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा का बचाव करते हुए कहा कि वह दुर्भाग्यशाली हैं कि जो हर बार भारत-पाकिस्तान के बीच अंतरराष्ट्रीय मैच के बाद प्रशंसकों की आलोचनाओं का शिकार होती रहती हैं। सानिया पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शोएब मलिक की पत्नी हैं जो अभी इंग्लैंड में मौजूदा विश्व कप में भाग ले रही क्रिकेट टीम का हिस्सा हैं। अख्तर ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, ‘वह इतनी दुर्भाग्यशाली है कि वह जो कुछ भी करती है, उसे या तो पाकिस्तान से या फिर भारत से गैर जरूरी आलोचनाएं झेलनी पड़ती हैं और वो भी बिना किसी कारण के। अगर पाकिस्तान मैच हारता है तो उसे निशाना बनाया जाता है क्योंकि उसका पति पाकिस्तान के लिए खेलता है।'

PunjabKesari

पति शोएब और वहाब रियाज व इमाम उल हक के साथ देर रात डिनर का लुत्फ लेते हुए वीडियो और फोटो डालने के बाद कई प्रशंसकों ने सोशल मीडिया पर सानिया को निशाना बनाया। पाकिस्तानी टीम को रविवार को बारिश से प्रभावित मैच में 89 रन की हार के बाद विश्व कप में भारत से सातवीं शिकस्त झेलनी पड़ी। अख्तर ने सवाल पूछा, ‘अगर वह अपने पति के साथ डिनर करने गई थी तो उसने क्या अपराध कर दिया?' इस विवाद के बाद शोएब मलिक ने भी अपने ट्विटर हैंडल पर संदेश लिखकर लोगों से इल्तजा की कि उनके परिवार को निशाना न बनाएं। पाकिस्तानी मीडिया ने खबरों में कहा गया कि सानिया और शोएब भारत के खिलाफ मैच से पहले बीती रात को शीशा कैफे गए थे और इस दौरान उनका बेटा भी उनके साथ था। पीसीबी ने फिर स्पष्ट किया कि यह वीडियो दो दिन पहले कहा है और शोएब-सानिया 13 जून को नहीं 15 जून की रात को डिनर करने गए थे।

अख्तर ने इस बात पर निराशा व्यक्त की कि पाकिस्तान अगर भारत से हार गया तो सानिया पर निशाना क्यों साधा जा रहा है। अख्तर ने कहा, ‘आप एक व्यक्ति के परिवार पर या निजी जिंदगी पर ऊंगली कैसे उठा सकते हो। आपको ऐसा करने का अधिकार किसने दिया? सिर्फ आपका ट्विटर हैंडल या सोशल मीडिया अकाउंट है तो इसका मतलब यह नहीं है कि आप किसी के भी परिवार पर ऊंगली उठा सकते हो।' उन्होंने कहा, ‘मुझे उसके लिए दुख होता है। अगर वह अपने पति के साथ डिनर करने गयी है तो इसका प्रदर्शन से क्या लेना देना। क्या उसने शोएब से कहा कि वह अच्छा नहीं खेले? प्रदर्शन और डिनर का क्या संबंध है?' अख्तर ने कहा कि वह सोशल मीडिया पर खिलाड़ियों के बारे में लोगों के बेवकूफाना प्रतिक्रियाओं और उनकी मानसिकता से आहत हैं। 

.
.
.
.
.