Cricket

लंदनः टेस्ट इतिहास का सबसे सफल तेज गेंदबाज बनने पर जेम्स एंडरसन की सराहना करते हुए इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने उम्मीद जताई कि वह देश के गेंदबाजी आक्रमण के अगुआ बने रहेंगे और बल्लेबाजों को आतंकित करते रहेंगे। एंडरसन आॅस्ट्रेलिया के ग्लेन मैकग्रा को पीछे छोड़कर टेस्ट इतिहास के सबसे सफल तेज गेंदबाज बने। उनके नाम पर अब 564 विकेट दर्ज हैं। टेस्ट क्रिकेट में उनसे अधिक विकेट अब सिर्फ मुथैया मुरलीधरन (800), शेन वार्न (708) और अनिल कुंबले (619) ने चटकाए हैं।

PunjabKesari

एंडरसन की खूब की तारीफ
रूट ने कहा, ‘‘जिम्मी ने जो हासिल किया और अब भी वह जो हासिल करने में सक्षम है, वह सचमुच में शानदार है। वह काफी प्रतिबद्ध लगता है- और जब वह इस तरह के मूड में होता है तो आप उसे जितनी अधिक संभव हो उतनी गेंदबाजी करा सकते हो।’’ उन्होंने कहा, ‘‘उसके लिए मैकग्रा की लीग में शामिल होगा और अब दो बड़े स्पिनरों का पीछा करना बेहतरीन है। मुझे लगता है कि सबसे रोमांचक चीज यह है कि वह अपनी सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी कर रहा है और मैं देख सकता हूं कि वह अब भी इसे काफी आगे ले जा सकता है।’’ रूट ने कहा, ‘‘उम्मीद करता हूं कि भविष्य में भी कई श्रृंखलाएं होंगी जहां वह आक्रमण की अगुआई करेगा और बल्लेबाजों को आतंकित करना जारी रखेगा।’’

PunjabKesari

भारत से सीरीज जीतना शानदार
एंडरसन ने भारत के खिलाफ पांचवें टेस्ट में अंतिम विकेट चटकाया जिससे इंग्लैंड ने टेस्ट में 118 रन की जीत के साथ पांच मैचों की श्रृंखला 4-1 से अपने नाम की। रूट ने कहा कि दुनिया की नंबर एक टीम भारत के खिलाफ श्रृंखला जीतना दर्शाता है कि इंग्लैंड आगे बढ़ रहा है और उन्होंने उम्मीद जताई कि टेस्ट टीम श्रीलंका और वेस्टइंडीज के सर्दियों में होने वाले दौरे के दौरान एकदिवसीय टीम के नक्शेकदम पर चलते हुए अपने प्रदर्शन में निरंतरता लाने में सफल रहेगी। लोकेश राहुल और ऋषभ पंत ने शतक जड़े और छठे विकेट के लिए 204 रन की साझेदारी करके ड्रा और भारत की उलटफेर भरी जीत की उम्मीद जताई। 

PunjabKesari

राशिद की गेंदबाजी बेहतरीन
राहुल हालांकि आदिल राशिद की बेहतरीन लेग स्पिन पर बोल्ड हो गए जिसके बाद भारतीय पारी को सिमटने में अधिक देर नहीं लगी। रूट ने कहा, ‘‘वह बेहतरीन गेंद थी। राशिद में ऐसा करने की क्षमता है, यही कारण है कि वह टीम में है।’’ इंग्लैंड के कप्तान ने कहा, ‘‘वे दोनों (राहुल और पंत) बीच के सत्र में जिस तरह खेले उसके लिए उन्हें श्रेय जाता है, उन्होंने हमारे लिए मुश्किलें पैदा की। जब हम चाय के लिए लौटे तो तीनों नतीजे संभव थे- जो दर्शाता है कि टेस्ट क्रिकेट काफी अच्छी स्थिति में है।’’ एंडरसन के 564 विकेट के अलावा एलिस्टेयर कुक ने 33वें टेस्ट शतक के साथ अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का अंत किया और रूट ने कहा कि यह श्रृंखला का शानदार अंतर रहा। रूट ने कहा, ‘‘एलिस्टेयर का इस अंदाज में जाना और जिम्मी का मैच खत्म करना इन दोनों खिलाडिय़ों के लिए शानदार है जो दोनों काफी करीबी मित्र हैं। उन्हें एक दूसरे के साथ खेलने की कमी खलेगी।’’

.
.
.
.
.