Sports

नई दिल्ली : टीम इंडिया के बल्लेबाज ऋषभ पंत (Rishabh Pant) का बल्ला आखिरकार बोल ही पड़ा। वेस्टइंडीज के खिलाफ गुआना में खेले गए तीसरे टी-20 मैच में टीम इंडिया जब 27 रन पर दो विकेट गंवाकर संघर्ष कर रही थी, तभी ऋषभ पंत ने कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) का भरपूर साथ देते हुए शानदार पारी खेली। पंत (65) की पारी की खासियत यह रही कि उन्होंने शुरुआती ओवरों से ही खुद पर दबाव बनने नहीं दिया। पहले दो टी-20 मैच के ऊलट उन्होंने वेस्टइंडीज के गेंदबाजों के खिलाफ अटैकिंग मोड अपनाए रखा। उन्होंने 42 गेंदों में 4 चौके और 4 छक्कों की मदद से 65 रन बनाए।

ऋषभ पंत ने टी-20 करियर की बनाई दूसरी फिफ्टी 

21 साल के ऋषभ पंत का यह 18वां टी-20 मैच था। अब उनके नाम 302 रन दर्ज हो गया है। वेस्टइंडीज के खिलाफ लगाई गई यह फिफ्टी उनके करियर का बैस्ट स्कोर भी था। पंत इसके साथ ही भारत की ओर से बतौर विकेटकीपर टी-20 मैच में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज भी बन गए हैं। उनसे पहले एमएस धोनी (MS Dhoni) 2017 में 56 तो 2018 में 52 रन भी बना चुके हैं।

ऋषभ पंत ने पहले दो टी-20 में बनाए थे 0, 4 रन 

ऋषभ पंत का सीरीज में प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा था। पहले टी-20 में वह पहली ही गेंद पर आऊट हो गए थे। दरअसल ऋषभ पंत जब क्रीज पर आए थे तब टीम इंडिया का स्कोर 32 रन था। ऋषभ पंत ने स्कोर आगे बढ़ाने के लिए पहले ही गेंद पर लंबा स्वीप शॉट मारा जोकि शेल्डन कार्टेल (Sheldon Cottrell) के हाथ में चला गया। इसके बाद दूसरी टी-20 मैच में वह केवल 4 ही रन बना पाए थे।

.
.
.
.
.