Sports

मुंबई : दिल्ली कैपिटल्स के मुख्य कोच रिकी पोंटिंग ने ऋषभ पंत के टीम की अगुआई जारी रखने का समर्थन करते हुए कहा कि यह विकेटकीपर बल्लेबाज अभी काफी युवा है और कप्तानी के गुर सीख रहा है जिससे वह इस पद के लिए सही विकल्प बना रहेगा। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 15वें चरण में इस युवा ने मैदान पर कुछ ऐेसे फैसले किए जिससे पूरे सत्र में उनकी आलोचना होती रही। 

शनिवार को दिल्ली कैपिटल्स के सामने मुंबई इंडियंस के खिलाफ ‘करो या मरो' का मुकाबला था लेकिन रणनीतिक चूक का टीम को खामियाजा भुगतना पड़ा जिससे वह प्लेऑफ में जगह बनाने में असफल रही। मुंबई इंडियंस की टीम 14.3 ओवर में तीन विकेट पर 95 रन के स्कोर पर थी लेकिन पंत ने एक रणनीतिक गलती कर दी और टिम डेविड के अपनी पारी की पहली गेंद पर बल्ला छुआने के लिए डीआरएस लेने से इनकार कर दिया और मैदानी अंपायर ने उन्हें आउट करार नहीं दिया। 

डेविड ने 'जीवनदान' मिलने पर महज 11 गेंद में चार छक्के और दो चौके से 34 रन जड़ दिए जिससे मैच दिल्ली कैपिटल्स के हाथों से निकल गया। दिल्ली कैपिटल्स को मुंबई इंडियंस से पांच विकेट से हार मिली जिसके बाद पोंटिंग ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘निश्चित रूप से, मेरे दिमाग में कोई संशय नहीं है कि ऋषभ कप्तानी के लिये सही पसंद हैं, यहां तक कि पिछले सत्र में भी कोई संशय नहीं था। ऋषभ ने श्रेयस (अय्यर) के चोटिल (कंधे में चोट) होने के बाद कप्तानी संभालने के बाद टीम के साथ शानदार काम किया है।' 

पोंटिंग ने कहा कि वह मैच को हाथों से निकलते हुए देखकर काफी निराश थे लेकिन उन्होंने पंत को हार के लिए जिम्मेदार नहीं ठहराया। उन्होंने कहा, ‘वह (पंत) युवा खिलाड़ी है और कप्तानी की बारीकियां सीख रहा है। टी20 टीम का कप्तान होना कोई आसान काम नहीं है, विशेषकर आईपीएल में जो इतना दबाव भरा टूर्नामेंट है और इसमें आप जो भी करते हो, उस प्रत्येक चीज पर गहरी नजर रखी जाती है। उसे निश्चित रूप से मेरा पूरा समर्थन प्राप्त है।' 

पोटिंग ने साथ ही कहा, ‘खेल के एक पहलू पर उंगली उठाना हमेशा मुश्किल होता है। हमारी बल्लेबाजी में शीर्ष क्रम का प्रदर्शन बहुत खराब था, हमने 40 रन पर चार विकेट गंवा दिये थे जो टी20 मैच शुरू करने का आदर्श तरीका नहीं है, विशेषकर बड़े मैचों में जिसमें आपको जीत दर्ज करनी ही हो।' उन्होंने कहा, ‘टिम डेविड निश्चित रूपसे अच्छा खेला। वह शायद पहली ही गेंद पर आउट था लेकिन खेल के कई पहलू हैं जिससे हम निराश होंगे। खिलाड़ियों को इस तरह के मैचों से ही सीख लेने की जरूरत है।' 

उन्होंने कहा, ‘मैं काफी निराश महसूस कर रहा था कि मैच हमारे हाथों से निकल गया, हम अंतिम कुछ ओवरों में मैच अपने हक में खत्म नहीं कर सके।' पोटिंग को लगता है कि इस सत्र में दिल्ली कैपिटल्स के गेंदबाजी ग्रुप ने अनिरंतर बल्लेबाजी इकाई से कहीं बेहतर प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा, ‘अगर मैं अपने पूरे सत्र को देखूं तो यह कहना उचित होगा कि हमारे गेंदबाजी ग्रुप ने शायद हमारे बल्लेबाजी ग्रुप से कहीं बेहतर काम किया। हमारा बल्लेबाजी ग्रुप वास्तव में अनिरंतर रहा और शायद उतने रन नहीं बना सका जितने हमें बनाने चाहिए थे।' 

.
.
.
.
.