Sports

पेरिस : फ्रांस इस महीने अपने टीकाकरण नियमों में ढील दे रहा है जिससे स्टार टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच के इस साल फ्रेंच ओपन में खेलने का रास्ता साफ हो सकता है। फ्रांस के प्रधानमंत्री जीन कास्टेक्स ने गुरुवार को घोषणा की कि 14 मार्च से खेल स्टेडियम और रेस्टोरेंट जैसी जगहों पर जाने के लिए लोगों को कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण का सबूत नहीं दिखाना होगा। 

फ्रांस के पीएम के इस बयान के बाद टीकाकरण नहीं करवाने वाले जोकोविच को मई में रोलां गैरो में खेलने की स्वीकृति मिल सकती है बशर्ते दोबारा पाबंदियां कड़ी नहीं हों। कास्टेक्स ने कहा, ‘हमारे सामूहिक प्रयासों से स्थिति में सुधार हो रहा है। पाबंदियों में छूट के नए चरण की शर्तों को पूरा किया गया है। सोमवार 14 मार्च से हम जहां भी टीकाकरण पास लागू है उसे निलंबित कर रहे हैं।' 

जोकोविच को जनवरी में ऑस्ट्रेलिया से निर्वासित किया गया था। उन्होंने कानूनी लड़ाई लड़ी थी कि उन्हें देश में प्रवेश की स्वीकृति दी जाए या नहीं। इसके कारण वह ऑस्ट्रेलियाई ओपन में हिस्सा नहीं ले पाए थे। जोकोविच ने पिछले महीने बीबीसी से कहा था कि अगर टीकाकरण जरूरी है तो वह आगामी ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट से भी बाहर रहने को तैयार हैं। 

जोकोविच ने दो बार फ्रेंच ओपन खिताब जीता है और उनके नाम पर कुल 20 ग्रैंडस्लैम खिताब हैं जो रिकॉर्ड 21 एकल ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने वाले राफेल नडाल से एक कम है। नडाल ने ऑस्ट्रेलियाई ओपन का खिताब जीता था। 

.
.
.
.
.