Sports

बार्सिलोना (स्पेन) : दर्जनों खिताब, सैकड़ों गोल और अनगिनत रिकार्ड के बाद लियोनेल मेस्सी का बार्सिलोना फुटबॉल क्लब के साथ शानदार करियर का अचानक अंत हो सकता है लेकिन इससे पहले इस पूरे मामले के कानूनी दांवपेंच में फंसने की भी संभावना है। मेस्सी ने मंगलवार को बार्सिलोना से कहा कि वह क्लब को छोडऩा चाहते हैं जिससे वह लगभग दो दशक तक जुड़े रहे। वह इस सत्र में कोई ट्राफी नहीं जीत पाने और चैंपियन्स लीग में बायर्न म्यूनिख के हाथों करारी हार से नाखुश थे।

Messi, Lionel Messi, Barcelona, Football news in hindi, Sports news,  Barcelona Football Club, Champions league

बार्सिलोना ने पुष्टि की कि मेस्सी ने क्लब को एक दस्तावेज भेजा है जिसमें उन्होंने क्लब छोडऩे की इच्छा जताई है। क्लब ने हालांकि संकेत दिए कि यह मामला अदालत तक पहुंच सकता है और कहा कि वह अर्जेंटीना के इस दिग्गज को अपनी मर्जी से क्लब छोडऩे की अनुमति नहीं देगा। बार्सिलोना ने मेस्सी से कहा है कि क्लब उन्हें अपने साथ जोड़े रखना चाहता है और उसकी इच्छा है कि वह क्लब में रहते हुए ही अपने करियर का अंत करें। 

मुख्य मसला मेस्सी के अनुबंध से जुड़ा उपबंध है। बार्सिलोना ने कहा कि मेस्सी ने जो दस्तावेज भेजे हैं उसमें एक उपबंध का जिक्र किया गया है जो उन्हें बिना किसी परेशानी के क्लब छोडऩे की अनुमति देता है। हालांकि क्लब ने कहा कि इस उपबंध की समयसीमा जून में समाप्त हो गयी थी और इसके लिए कानूनी सलाह लेनी होगी। मेस्सी के अनुबंध में 700 मिलियन यूरो का उपबंध भी शामिल है।

Messi, Lionel Messi, Barcelona, Football news in hindi, Sports news,  Barcelona Football Club, Champions league

स्पेनिश सत्र आमतौर पर मई में समाप्त हो जाता है लेकिन कोरोना वायरस महामारी के कारण इस बार वह आगे तक खिंच गया था। मेस्सी ने इस सत्र में बार्सिलोना के कुछ फैसलों पर नाराजगी जतायी थी। उन्होंने क्लब के खेल निदेशक एरिक एबिडाल की आलोचना भी की थी जिन्होंने पिछले सप्ताह क्लब छोड़ दिया था। मेस्सी बायर्न के हाथों हार के बाद से ही चुप थे जिससे उनके भविष्य को लेकर कयास लगाये जाने लगे थे।

.
.
.
.
.