Sports

नई दिल्लीः पिछले साल विश्व भारोत्तोलन चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाली मीराबाई चानू पीठ दर्द के कारण इस बार अपने खिताब का बचाव नहीं कर पाएंगी और उनकी निगाहें अगले साल अप्रैल में होने वाली एशियाई चैंपियनशिप से वापसी करने पर लगी हैं।

भारोत्तोलन में अपनी उपलब्धियों के लिए मंगलवार को यहां देश का सर्वोच्च खेल सम्मान राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार हासिल करने वाली चानू ने हालांकि अभ्यास शुरू कर दिया है। वह पीठ दर्द के कारण ही जकार्ता एशियाई खेलों में भाग नहीं ले पाई थी। चानू ने कहा, ‘‘मैंने एक सप्ताह से अभ्यास शुरू कर दिया है। चिकित्सकों ने हालांकि मुझे धीरे धीरे आगे बढऩे को कहा है और इसलिए मैं नवंबर में (तुर्कमेनिस्तान के अशगाबाट में) विश्व चैंपियनशिप में भाग नहीं ले पाऊंगी। मुझे अगले साल अप्रैल में एशियाई चैंपियनशिप में वापसी करने की उम्मीद है।’’          
PunjabKesari

ग्लास्गो राष्ट्रमंडल खेलों में रजत और इस साल गोल्ड कोस्ट खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली 24 वर्षीय चानू ने कहा कि उन्हें उम्मीद नहीं थी कि अपने करियर के शुरू में ही उन्हें खेल रत्न पुरस्कार मिल जाएगा। चानू ने कहा, ‘‘यह मेरे लिये बहुत बड़ा सम्मान है। मैंने कभी नहीं सोचा था कि मुझे अपने करियर में इतनी जल्दी यह पुरस्कार मिलेगा। यह मेरी जिंदगी का सबसे सुखद पल है।’’ 


 

.
.
.
.
.