Sports

बेंगलुरू: भारत के सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल के कोच इरफान सैत अपने शिष्य के आस्ट्रेलिया में चल रही टेस्ट श्रृंखला में दूसरी बार शतक चूकने से दुखी हैं लेकिन इस बात से खुश हैं कि वह टीम में अपनी जगह पक्की कर रहा है। सैत ने यहां एक वेबसाइट से कहा, ‘मैं उसके आउट होने से दुखी हूं, लेकिन मैं खुश हूं कि मयंक ने टीम में अपना स्थान लगभग पक्का कर दिया है। उसकी निरंतरता देखिए । उसके अब ऑस्ट्रेलिया में अभी तक खेली गई तीन पारियों में दो अर्धशतक हो गए हैं और 42 रन भी हैं।’
PunjabKesari
बेंगलुरू का यह खिलाड़ी 77 रन की पारी खेलने के बाद छक्का लगाने के प्रयास में आउट हो गया। सैत ने कहा, ‘वह फिर से छक्का लगाने के प्रयास में आउट हो गया। उम्मीद करता हूं कि वह इससे सीख लेगा और आगे आने वाली पारियों में ऐसे शाट खेलने से बचेगा। फिर भी, मैंने उसकी हर गेंद खेलने का लुत्फ उठाया।’
PunjabKesari
कोच ने आगे बताया कि, पृथ्वी शाॅ जब चोट से वापसी करेगा तो अग्रवाल को मुंबई के इस युवा खिलाड़ी के लिए जगह बनानी होगी, जो सलामी बल्लेबाज विफल रहेगा, उसे टीम से हटा देना चाहिए। पृथ्वी टेस्ट श्रृंखला से पहले भारत के चार दिवसीय मैच के दौरान बाउंड्री पर कैच लेने की कोशिश करते हुए चोटिल हो गए थे। अग्रवाल ने मेलबर्न में टेस्ट में पदार्पण करते हुए पहली पारी में 76 रन बनाए थे जिससे भारतीय टीम ने सात विकेट पर 443 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया था। दूसरी पारी में वह 42 रन बनाकर शीर्ष स्कोरर रहे थे और ये रन भारत के मेलबर्न टेस्ट अपने नाम करने में अहम साबित हुए थे।

.
.
.
.
.