Sports

नई दिल्ली : दिग्गज मुक्केबाज एमसी मेरीकाम ने कहा कि एशियाई चैंपियनशिप में भाग नहीं लेने का उनका फैसला ओलंपिक क्वालीफिकेशन के लिए एक बड़ी योजना का हिस्सा है जहां उनके वजन वर्ग में काफी ‘कठिन’ मुकाबला होगा। मेरीकाम ने पिछले साल दिल्ली में अपना छठा विश्व खिताब जीता था। उनका लक्ष्य रूस के येकातेरिनबर्ग में होने वाली विश्व चैंपियनशिप से 2020 तोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करना हैं। एशियाई चैम्पियनशिप का आयोजन अगले महीने थाईलैंड में होगा।

मेरीकाम ने कहा- मेरे लिए यह काफी अहम साल है। मेरा मुख्य लक्ष्य तोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करना है। मैं प्रतियोगिता में भाग लिए बिना ओलंपिक के लिए क्वालीफाई नहीं कर सकती हूं। मुझे मेरे भारवर्ग के सभी प्रतिद्वंद्वियों के बारे में पता होने के साथ यह भी मालूम होना चाहिए कि मेरी तुलना में वे कितनी मजबूत है। मुझे पहले इंडिया ओपन में भाग लेना है और फिर 51 किग्रा वर्ग में अपने टूर्नामेंट का चयन करना है। 

तीन बच्चों की मां मेरीकाम ने कहा- मैं पिछले एक साल से ही 51 किग्रा वर्ग में भाग ले रही हूं। मुझे पता है किन क्षेत्रों में मुझे सुधार करना है लेकिन फिटनेस को लेकर कोई समस्या नहीं है। मुझे बस अपनी ताकत और सहनशक्ति पर काम करना है। एआईबीए विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप का आयोजन सात से 21 सितंबर तक होगा।

.
.
.
.
.