Sports

कोलकाताः वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टवेंटी-20 मैच में तीन विकेट झटक कर भारतीय टीम को जीत दिलाने में अहम किरदार निभाने वाले चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने अपनी सफलता के लिए ईडन गार्डन की विकेट और आउटफील्ड के व्यवहार से भली-भांति परिचित होना बताया है। 

कुलदीप यादव ने पहले टी-40 मैच में रविवार को ''मैन आफ द मैच'' चुने जाने पर कहा, ''मुझे आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स की ओर से इस मैदान पर ज्यादातर मैच खेलने का फायदा मिला। जब आप किसी एक मैदान पर कई मैच खेले हों, तो उसका बहुत अधिक फायदा मिलता है। आप विकेट, आउटफील्ड आदि से अच्छी तरह से परिचित होते हैं। इससे आपका आत्मविश्वास बढ़ता है।'' 
kuldeep yadav image, indian cricket team

चाइनामैन गेंदबाज ने कहा, ''मुझे यहां खेलने का खासा अनुभव है। मुझे जब गेंद थमाई गई तो अच्छी तरह पता था कि अगर आप इस पिच पर अपनी गति बदलते हैं, तो आपको इसका फायदा मिलेगा। इससे मुझे काफी मदद मिली और मेरा आत्मविश्वास बढ़ा।'' उन्होंने कहा कि हरफनमौला कुणाल पांड्या को सातवें ओवर पर गेंद मिली जिसके बाद अगला ओवर उन्हें करने को मिला। हमारे बीच केवल इतनी ही बात हुई कि विकेट से टर्न नहीं मिल रही है लेकिन गेंद पर ग्रिप बन रही है। बस इसके बाद विकेट निकलते चले गए। 

गौरतलब है कि कुलदीप के खतरनाक स्पेल के चलते कैरिबायाई टीम निर्धारित 20 ओवरों में आठ विकेट पर 109 रन ही बना सकी थी। छोटे लक्ष्य का हालांकि पीछा करते हुये एक बार भारतीय बल्लेबाजी भी लडख़ड़ाई थी, लेकिन विकेटकीपर दिनेश कार्तिक ने 34 गेंदों में 31 रनों की नाबाद पारी खेलते हुए मेहमान टीम को पांच विकेट से हराकर तीन मैचों की शृखंला में 1-0 की बढ़त बना ली है। 

.
.
.
.
.