Sports

नई दिल्ली : आईसीसी के मुख्य कार्यकारी डेव रिचर्डसन ने आगामी विश्व कप के लिए टीम इंडिया को फेवरेट बताया है। दक्षिण अफ्रीका के इस पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज ने वर्तमान भारतीय टीम को बेहद संतुलित करार देते कहा कि इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के बीच विराट कोहली के नेतृत्व वाली भारतीय टीम खिताब जीतने की दावेदार है। रिचर्डसन बोले- विश्व कप 2019 में 10 सर्वश्रेष्ठ टीमें भाग लेंगी। भारत इस समय बहुत अच्छा खेल रहा है और खिताब का दावेदार है। इंग्लैंड वनडे में सर्वश्रेष्ठ टीम है जबकि दक्षिण अफ्रीका भी अच्छा प्रदर्शन कर रहा है। विश्व कप कौन जीतेगा इस तरह की भविष्यवाणी करना मुश्किल है। 

भारत की वर्तमान टीम हर विभाग में मजबूत : रिचर्डसन 

TEAM INDIA, BCCI, CRICKET NEWS IN HINDI, ICC CEO, DAVE RICHARDSON, VIRAT KOHLI, SOURAV GANGULY

रिचर्डसन ने इस दौरान कोहली के नेतृत्व वाली 2003 वल्र्ड कप की टीम की बजाय वर्तमान टीम को हर विभाग में मजबूत बताया। उन्होंने कहा- भारत ने 4-5 सालों में जिस तरह से प्रगति की है वह शानदार है। हालांकि गांगुली की अगुवाई वाली उक्त भारतीय टीम में सहवाग, सचिन और द्रविड़ जैसे बल्लेबाज थे लेकिन तब उनकी गेंदबाजी थोड़ा कमजोर थी। वर्तमान टीम बेहद संतुलित है। उसकी गेंदबाजी भी मजबूत है और उसे हराना आसान नहीं है। 

भारत-पाकिस्तान को एक ग्रुप में नहीं रखने पर

TEAM INDIA, BCCI, CRICKET NEWS IN HINDI, ICC CEO, DAVE RICHARDSON, VIRAT KOHLI, SOURAV GANGULY

टी-20 विश्व कप में भारत और पाकिस्तान को एक ग्रुप में न रखने पर रिचर्डसन ने कहा- हमने रैंकिंग के अनुसार ग्रुप बनाए हैं। पाकिस्तान रैंकिंग में नंबर एक है जबकि भारत नंबर दो। इसलिए दोनों को अलग-अलग ग्रुप मिले। इससे भारत और पाकिस्तान के सेमीफाइनल या फाइनल में भिडऩे के चांस होंगे। भारत ने 2021 में होने वाले आईसीसी टी-20 विश्व कप और 2023 के वनडे विश्व कप की मेजबानी करनी है, लेकिन आईसीसी टूर्नामेंटों के आयोजन पर करों में छूट नहीं मिलने पर भारत से मेजबानी छीन सकता है। इस मुद्दे पर रिचर्डसन ने साफ कहा- हमारे लिए पैसा महत्व रखता है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि इससे भारत की मेजबानी को खतरा है। 

टेस्ट चैंपियनशिप करवाना मेरी सबसे बड़ी कामयाबी 

TEAM INDIA, BCCI, CRICKET NEWS IN HINDI, ICC CEO, DAVE RICHARDSON, VIRAT KOHLI, SOURAV GANGULY

रिचर्डसन ने कहा- आईसीसी की भ्रष्टाचार निरोधक इकाई अच्छी तरह से काम रही है। वह खिलाडिय़ों के व्यवहार पर भी निगरानी रखती है। हमारी पूरी कोशिश रहती है ऐसे लोगों को टीमों और खिलाडिय़ों से दूर रखा जाए जो मैच फिक्स करने की फिराक में रहते हैं। खिलाडिय़ों को इस बारे में शिक्षित करना बेहद जरूरी है। अच्छी बात यह है कि खिलाड़ी अब खुद ही रिपोर्ट करते हैं। रिचर्डसन ने इस दौरान डीआरएस प्रणाली लागू करने और टेस्ट चैंपियनशिप करवाने को अपनी कामयाबी बताया।

.
.
.
.
.