Sports

राजकोटः भारत आैर विंडीज के बीच 2 टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला मैच 4 अक्तूबर को राजकोट में होगा। मैच के शुरू होने से पहले विंडीज के लिए बुरी खबर सामने आई है। खबर है कि विंडीज के तेज गेंदबाजी आक्रमण के अगुआ केमार रोच की नानी का निधन हो गया, जिस कारण उन्हें बारबडोस वापस लौटना पड़ा था। रोच अब भारत के खिलाफ पहला टेस्ट नहीं खेल पाएंगे। यह विंडीज खेमे के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं है। 

रोच गुरुवार से यहां शुरू हो रहे पहले टेस्ट के बीच में टीम के साथ जुड़ेंगे। विंडीज के कोच स्टुअर्ट लॉ ने मंगलवार को कहा, ‘‘केमार अब तक नहीं लौटा है। उसके परिवार में निधन हो गया था और वह पहले टेस्ट के बीच में टीम से जुड़ेगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘केमार रोच काफी अनुभवी तेज गेंदबाज है जिसके बाद शानदार कौशल है। वह हमारे नेतृत्वकर्ताओं में से एक है। यह बड़ा नुकसान है। हालांकि पिछले कुछ टेस्ट मैचों में शेनन गैब्रिएल ने शानदार प्रदर्शन किया है और वह भी भारत जैसे हालात में।’’ रोच ने 48 टेस्ट में 28 . 31 की औसत से 163 विकेट चटकाए हैं।   
PunjabKesari  

आस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर से कोच बने ला ने हालांकि गैब्रिएल (37 टेस्ट), कप्तान जेसन होल्डर (34), कीमो पाल (एक टेस्ट) और नवोदित शर्मन लुईस की मौजूदगी वाले अपने तेज गेंदबाजी आक्रमण की क्षमताओं पर भरोसा जताया। लुईस को चोटिल अलजारी जोसेफ की जगह टीम में जगह दी गई है। कोच ने कहा, ‘‘केमार को नहीं होना बड़ा नुकसान है लेकिन हमारे पास कीमो पाल और शर्मन लुईस के रूप में प्रतिभावान खिलाड़ी हैं। कभी कभी विरोधी को हैरान करने के लिए अनजान के साथ उतरना बेहतर होता है। तेज गेंदबाजी हमारा मजबूत पक्ष है।’’      
 

.
.
.
.
.