Sports

बेंगलुरू : अर्जेन्टीना और यूरोप के सफल दौरे के बाद भारतीय पुरुष हॉकी टीम के मिडफील्डर हार्दिक सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय टीम को ओलंपिक में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए फिनिशिंग में सुधार और समन्वय पर काम करने की जरूरत है। हार्दिक ने हॉकी इंडिया की विज्ञप्ति में कहा- मुझे लगता है कि हमें अपनी फिनिशिंग पर काम करने की जरूरत है। हमें विरोधी के ‘डी’ में बनाए मौकों को भुनाने की जरूरत है। हम अपने समन्वय पर भी काम कर सकते हैं जिससे हमें विरोधी टीमों के खिलाफ मैच में नियंत्रण बनाने में मदद मिलेगी।

उन्होंने कहा- हम प्रत्येक दिन सुधार करना चाहते हैं और अपने दैनिक ट्रेनिंग लक्ष्यों पर बरकरार रहते हुए इस लय को जारी रखना चाहते हैं। एक साल के बाद अपना पहला अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट खेल रही भारतीय टीम ने दो चरण की एफआईएच प्रो लीग के पहले मैच में मेजबान अर्जेन्टीना को पहले मैच में पेनल्टी शूट आउट में हराया और फिर दूसरे मैच में 3-0 से जीत दर्ज की। 

जालंधर के 22 साल के हार्दिक ने अर्जेन्टीना और यूरोप के हाल के दौरों में सफलता का श्रेय शिविर के दौरान कड़ी ट्रेनिंग को दिया। उन्होंने कहा- अर्जेन्टीना और यूरोप दौरे की सफलता कड़ी ट्रेनिंग का नतीजा है जो हम शिविर में एक साल से कर रहे हैं। जुलाई में शुरू होने वाले ओलंपिक खेलों की तैयारी के हिस्से के तौर पर अर्जेन्टीना के खिलाफ हुए अभ्यास मैचों में भारत ने 4-3, 4-4, 0-1 और 4-2 का नतीजा हासिल किया।

.
.
.
.
.