Sports

नई दिल्लीः भारतीय डिफेंडर और पूर्व कप्तान सुशीला चानू ने भारत और स्पेन के बीच पांच मैचों की श्रृंखला के दूसरे मैच में 150 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने की उपलब्धि हासिल की। मणिपुर की इस डिफेंडर ने 2009 में 17 साल की उम्र में न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला के दौरान क्राइस्टचर्च में पदार्पण किया था और तब से वह टीम का अहम हिस्सा रही हैं। 

सुशीला ने 11 साल की उम्र में हाॅकी खेलना शुरू किया था। उन्होंने मणिपुर में पोस्टेरियर हाकी अकादमी से शुरुआत की थी। वह 2013 में जर्मनी में एफआईएच जूनियर विश्व कप में कांस्य पदक जीतने वाली टीम की कप्तान थी।            

सुशीला ने कल मैड्रिड में मैच से पहले कहा, ‘‘मैंने कम से कम एक बार राष्ट्रीय टीम का प्रतिनिधित्व करने का सपना देखा था लेकिन मैंने 150 बार राष्ट्रीय टीम की जर्सी पहनी है और इस पर मुझे गर्व है। भारतीय टीम के साथ यह यादगार यात्रा रही और मुझे उम्मीद है कि मैं टीम के विकास में आगे भी योगदान देती रहूंगी।’’

.
.
.
.
.