Sports

जकार्ताः भारत ने 18वें एशियाई खेलों में शुक्रवार को महिला हॉकी के रजत सहित कुल छह पदक जीतकर एशियाई खेलों के इतिहास में कुल सर्वाधिक 65 पदक जीतने के अपने रिकॉर्ड की बराबरी कर ली।  भारत ने आठ साल पहले ग्वांग्झू एशियाई खेलों में 14 स्वर्ण, 17 रजत और 34 कांस्य सहित 65 पदक जीते थे, जबकि जकार्ता में भारत के अब 13 स्वर्ण, 23 रजत और 29 कांस्य सहित कुल 65 पदक हो गए हैं। भारत कल इस संख्या को पीछे छोड़ सकता है। हालांकि भारत को 1951 के पहले एशियाई खेलों के 15 स्वर्ण पदक जीतने के रिकॉर्ड की बराबरी करने के लिए दो स्वर्ण की जरूरत है और शनिवार को मुक्केबाज अमित पंघल तथा महिला स्क्वैश टीम से उसकी यह उम्मीद पूरी हो सकती है जो अपना फाइनल खेलने उतरेंगे।  

महिला हॉकी में दूसरी बार रजत पदक जीता
भारतीय महिला हॉकी टीम का एशियाई खेलों में 36 साल के लंबे अंतराल के बाद स्वर्ण पदक जीतने का सपना जापान के हाथों 1-2 की हार के साथ टूट गया और उसे उसे रजत पदक से संतोष करना पड़ा। भारत ने महिला हॉकी में दूसरी बार रजत पदक जीता।  अमित पंघल ने रोमांचक मुकाबले में फिलीपीन्स के कार्लो पालाम को 3-2 से हराकर पुरुष लाइट फ्लाईवेट (49 किग्रा) स्पर्धा के स्वर्ण पदक मुकाबले में प्रवेश कर लिया जबकि विकास कृष्णन (75 किग्रा) को आंख पर चोट की वजह से अपने मुकाबले से हटने के कारण कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा।  
PunjabKesari

भारतीय महिला स्क्वैश टीम ने गत चैंपियन मलेशिया को 2-0 से हराकर स्वर्ण पदक मुकाबले में जगह बना ली जबकि पुरूष टीम को हांगकांग के हाथों 0-2 से हार कर कांस्य से संतोष करना पड़ा।  भारत ने सेङ्क्षलग मुकाबलों में एक रजत और दो कांस्य पदक जीते। वर्षा गौतम और श्वेता शेरवेगर की टीम ने महिलाओं की 49ईआर एफएक्स स्पर्धा में रजत पदक, पुरूषों की 49ईआर स्पर्धा में वरूण अशोक ठक्कर और गणपति चेंगप्पा ने कांस्य और ओपन लेजर 4.7 स्पर्धा में हर्षिता तोमर ने कांस्य पदक जीता। 

.
.
.
.
.