Sports

स्पोर्ट्स डेस्क: गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन के बाद अकबर अली की कप्तानी पारी से बांग्लादेश ने वर्षा से प्रभावित कम स्कोर वाले आईसीसी अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप फाइनल में गत चैंपियन भारत को डकवर्थ लुईस पद्धति के तहत तीन विकेट से हराकर पहली बार खिताब जीता। ऐसे में मैच हारने के बाद टीम इंडिया के अंडर19 के कप्तान प्रियम ने कहा, यह हमारा दिन नहीं था। लड़कों ने शानदार प्रदर्शन किया।

PunjabKesari
दरअसल, मैच खत्म होने के बाद भारतीय टीम के बाद कप्तान प्रियम गर्ग ने कहा, 'यह हमारा दिन नहीं था। लड़कों ने शानदार प्रदर्शन किया, लेकिन परिणाम हमारे रास्ते में नहीं आया। जिस तरह हमने लड़ने का जज्बा दिखाया, उससे एक कप्तान के तौर पर मैं बहुत खुश हूं, हमारे गेंदबाजों ने अपना सर्वश्रेष्ठ दिया। प्रियम गर्ग ने आगे अपनी बात को बढ़ाते हुए कहा, 'टॉस कोई मायने नहीं रखता था, विकेट में कुछ था. बांग्लादेश के गेंदबाजों ने अच्छी शुरुआत की और हमारे बल्लेबाजों पर प्रेशर बनाया, लेकिन हम कुछ और रन बना पाते तो बेहतर होता। हमें 215-220 रनों की उम्मीद थी, इसलिए ईमानदारी से कहूँ, तो 178 रन का स्कोर बचाने के लिए बहुत अच्छा नहीं था।'

बांग्लादेश के खिलाडियों के रवैये पर भी बोले... 
PunjabKesari
प्रियम गर्ग ने मैच के बाद कहा, भारतीय खिलाड़ियों ने नहीं, बल्कि बांग्लादेश के खिलाड़ियों ने इस इवेंट को भद्दा किया है। गर्ग ने कहा है कि भारतीय टीम ने हार को स्वीकार किया। प्रियम गर्ग ने आगे कहा, 'हमने हार को स्वीकार किया। हमने सोच का ये गेम का हिस्सा है और खेल में ऐसा होता रहता है। कोई हारता है तो कोई जीतता है, लेकिन उनकी प्रतिक्रिया (जीत के बाद जश्न और फिर लड़ाई) काफी गंदी थी। मेरा मानना है कि ऐसा नहीं होना चाहिए, लेकिन कोई बात नहीं।'

.
.
.
.
.