Sports

बेंगलुरू : भारतीय हॉकी टीम के मिडफील्डर जसकरण सिंह ने कहा कि वह कप्तान मनप्रीत सिंह जैसे वरिष्ठ खिलाड़ियों से इस खेल के गुर सीख रहे हैं और उन्हें तोक्यो ओलंपिक टीम में जगह बनाने की उम्मीद है। हॉकी ओलंपियन और पूर्व भारतीय कोच राजिंदर सिंह जूनियर के पुत्र जसकरण अभी आगामी तोक्यो ओलंपिक के लिये यहां भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) केंद्र में पुरुष सीनियर कोर ग्रुप के साथ अभ्यास कर रहे हैं। मनप्रीत, स्ट्राइकर मनदीप सिंह और जसकरण सभी पंजाब के जालंधर शहर के रहने वाले हैं। जसकरण ने कहा कि हमारे घर दो-तीन किमी के दायरे में हैं। ये दोनों मेरी काफी मदद करते हैं। मिडफील्डर और स्ट्राइकर के बीच अच्छी समझ होना महत्वपूर्ण होता है और मुझे लगता है कि हमारे बीच समझ नैसर्गिक तौर पर पैदा हो जाती है क्योंकि हम लंबे समय से एक साथ खेल रहे हैं। 

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 2019 में पदार्पण करने वाले इस मिडफील्डर ने कहा कि यहां तक कि मनप्रीत और टीम के अन्य वरिष्ठ खिलाड़ी मेरा मार्गदर्शन करते रहे हैं। जब भी मुझे कोई संदेह होता है तो मैं उनसे बात करता हूं। जसकरण हाल में अपने तीसरे अंतरराष्ट्रीय दौरे पर अर्जेंटीना गये थे। उन्होंने इस दौरे के बारे में कहा कि मैं बहुत लंबे समय के बाद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेल रहा था इसलिए मैं अपना शत प्रतिशत देने पर ध्यान दे रहा था। मुझे पूरे दौरे में प्रशिक्षकों का पूरा सहयोग मिला।

उन्होंने कहा कि वरिष्ठ खिलाड़ियों ने भी मेरा मनोबल बढ़ाया और ओलंपिक चैंपियन के खिलाफ खेलने के लिए मुझे आत्मविश्वास दिया। उन्होंने पूरे दौरे में मेरी गलतियों में सुधार करने में मदद की। इसलिए निजी तौर पर मुझे इस दौरे में काफी कुछ सीखने को मिला। ओलंपिक की तैयारियों के बारे में जसकरण ने कहा, ''हम वास्तव में बहुत अच्छी स्थिति में हैं और ओलंपिक के लिये अच्छी तैयारी कर रहे हैं।

.
.
.
.
.