Sports

नई दिल्ली: अंतरराष्ट्रीय हाॅकी महासंघ के साल के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी और भारतीय टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह को तीसरे हाॅकी इंडिया वार्षिक पुरस्कार 2019 में रविवार को साल का सर्वश्रेष्ठ पुरुष खिलाड़ी जबकि महिला टीम की कप्तान रानी को साल की सर्वश्रेष्ठ महिला खिलाड़ी चुना गया। मनप्रीत और रानी को ट्राॅफी के अलावा 25-25 लाख रुपए की इनामी राशि मिली। तोक्यो ओलंपिक 1964 की स्वर्ण पदक विजेता टीम के सदस्य रहे हरबिंदर सिंह को लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार दिया।

वह 1968 मैक्सिको और 1972 म्यूनिख ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने वाली भारतीय हाकी टीम के भी सदस्य रहे। उन्हें 30 लाख रुपए की इनामी राशि और ट्राफी प्रदान की गई। हाॅकी इंडिया वार्षिक पुरस्कारों के दौरान खिलाड़ियों को एक करोड़ 64 लाख 50 हजार रुपए की इनामी राशि सौंपी गई। भारत की पुरुष और महिला हाॅकी टीमों ने पिछले साल क्रमश: मनप्रीत और रानी की अगुआई में तोक्यो ओलंपिक 2020 के लिए क्वालीफाई किया। मनप्रीत को पिछले महीने अंतरराष्ट्रीय हाकी महासंघ के 2019 के साल के सर्वश्रेष्ठ पुरुष हाॅकी खिलाड़ी के पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था।

वह यह पुरस्कार हासिल करने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी हैं। रानी भी जनवरी में विश्व खेलों की साल की सर्वश्रेष्ठ महिला खिलाड़ी का पुरस्कार जीतने वाली पहली हाॅकी खिलाड़ी बनी थी। इस मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में मौजूदा खेल एवं युवा मामलों के मंत्री किरेन रीजीजू ने कहा, ‘‘मेरा हमेशा से मानना है कि हाकी भारतीय खेल के स्तंभ हैं। यह भारतीय खेल की आत्मा है। हाकी का स्तर अलग है और इसमें कोई दो राय नहीं है।'' उन्होंने कहा, ‘‘मैं आश्वासन देता हूं कि हाकी को सरकार की ओर से जिस भी तरह के समर्थन की जरूरत होगी वह हम मुहैया कराएंगे।'' 

.
.
.
.
.