Sports

जालन्धर : गोल्डकोस्ट कॉमनवैल्थ गेम्स के दौरान भारत ने कई रिकॉर्ड बनाए, कई बनाने से चूक गए। लेकिन बड़ी बात यह रही कि भारतीय खेल इतिहास में कुछ नए बेहरीन प्लेयर्स की आमद हुई। शूटिंग में अनीश के अलावा मनु भाकर ने जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए भारत को गोल्ड दिलाया। वहीं, रेसलिंग में भी भारतीय पहलवानों ने विजय पताका फहराई। साइना हो या नई टेबल टैनिस सनसनी मेनिका बत्रा। दोनों ने ऐसे रिकॉर्ड बनाए जो भारत अब तक कॉमनवैल्थ में बना नहीं सका था। जानें- कॉमनवैल्थ गेम्स के कुछ रोचक फैक्ट

1. पैरा एथलीट सचिन चौधरी कॉमनवैल्थ में गोल्ड जीतने वाले पहले पावरलिफ्टर बने।

2. मेनिका बत्रा ने टैबल टैनिस गेम में चार मैडल जीते, बनाया भारतीय रिकॉर्ड।

3. सायना नेहवाल ने बैडमिंटन में दो गोल्ड जीते, ऐसा करने वाली पहली भारतीय।

4. पंद्रह साल के अनीश भानवाला सबसे कम उम्र में शूटिंग का गोल्ड जीतने वाले प्लेयर बने।

5. मोहम्मद अनस मात्र 0.20 सैकेंड से पदक चूके लेकिन उन्होंने राष्ट्रीय रिकॉर्र्ड बनाकर मिल्खा सिंह को पीछे छोड़ा।

6. भारत के दो एथलीट राकेश बाबू, इरफान नो नीडल पॉलिसी में निकले दोषी, लगा बैन।

7. मेहुली घोष ने 10 मीटर एयर राइफल में सिर्फ इसलिए गोल्ड चूकीं क्योंकि मैच खत्म होने से पहले उन्होंने अपनी गन जमीन पर रख दी। इससे उनकी कंस्ट्रक्शन भंग हुई और वह गोल्ड चूक गईं, माहिरों ने इसे अनुभव की कमी बताया।

8. कॉमनवैल्थ गेम्स में न्यूजीलैंड की ट्रांसजेंडर वेटलिफ्टर ने भी हिस्सा लिया, वह गोल्ड जीत सकती थीं लेकिन अचानक गेम दौरान चोट लगने से वह पीछे हट गईं।

9. भारत के 66 मैडलों में से हरियाणा के एथलीट्स ने सबसे ज्यादा 22 जीते।

10. कॉमनवैल्थ गेम्स 1930 में शुरू हुई थीं। भारत अब तक कुल मिलाकर इन गेम्स में 505 मैडल हासिल कर चुका है।

.
.
.
.
.