Sports

नई दिल्लीः भारतीय क्रिकेटर गाैतम गंभीर ने अभी खेल को अलविदा नहीं कहा। मगर भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) ने दिल्ली में अपना आधार मजबूत बनाने के लिए इस खिलाड़ी को साथ लेने का मन बना लिया है। रिपोर्ट्स के अनुसार, बीजेपी चाहती है कि गंभीर पार्टी के टिकट पर दिल्ली से आम चुनाव लड़ें। हालांकि, इसपर गंभीर ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। 
PunjabKesari

बीजेपी प्रदेश में कई सालों से सत्ता से बाहर है। आखिरी बार बीजेपी की तरफ से मदनलाल खुराना मुख्यमंत्री रहे थे। ऐसे में दिल्ली में अपनी पकड़ मजबूत करने के मकसद से पार्टी यह फैसला उठा सकती है। क्योंकि गंभीर जाना-माना चेहरा हैं और मूलरूप से दिल्ली के हैं, लिहाजा वह बीजेपी के लिए सही प्रतिनिधि साबित हो सकते हैं। गंभीर क्रिकेट के अलावा समाजसेवा के कामों के चलते भी सुर्खियों में रहते हैं। उन्होंने सैनिकों के लिए पिछले दिनों डोनेशन भी दिया था। 
PunjabKesari

क्रिकेटर्स का राजनीति से है पुराना नाता
यूं तो क्रिकेटरों का राजनीति से पुराना नाता रहा है, चाहे वो नवजोत सिंह सिद्धू, चेतन चौहान या मोहम्मद अजहरुद्दीन हों या फिर कीर्ति आजाद, लेकिन इस लिस्ट में अब गंभीर के रूप में नया नाम जुड़ सकता है। गंभीर अब राजनीति में कदम रख सकते हैं। गंभीर खुद भी दिल्ली से ही ताल्लुक रखते हैं और वह उस भारतीय टीम का हिस्सा रह चुके हैं जिसने धोनी की कप्तानी में 2007 में टी20 विश्व और 2011 में विश्व कप  का खिताब जीता था। दोनों ही टूर्नामेंट्स के फाइनल में गंभीर ने महत्वपूर्ण पारियां खेली थीं।
PunjabKesari

गंभीर ने भारत के लिए 58 टेस्ट और 147 वनडे खेलते हुए 20 शतकों की मदद से कुल 9393 रन बनाए हैं। उन्होंने अपनी कप्तानी में कोलकाता नाइटराइडर्स को दो बार आईपीएल खिताब भी जिताया है। 


 

.
.
.
.
.