Sports

भुवनेश्वर : मेजबान भारत एफआईएच प्रो लीग में शुक्रवार को पिछले चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उतरेगा तो उसका इरादा शानदार फार्म कायम रखने का होगा। भारत ने एफआईएच प्रो हाॅकी लीग में पदार्पण करते हुए शानदार शुरूआत की और चार मैचों में आठ अंक के साथ तीसरे स्थान पर है।

मनप्रीत सिंह की कप्तानी वाली टीम ने नीदरलैंड के खिलाफ छह में से पांच अंक बनाए। इसके बाद विश्व और यूरोपीय चैम्पियन बेल्जियम के खिलाफ 2-1 से जीत दर्ज करके तीन अंक हासिल किए। बेल्जियम ने दूसरा मैच 3-2 से जीता। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट ग्राहम रीड की कोचिंग में भारत ने पिछले कुछ समय में शानदार हाॅकी खेली है। इस मुकाबले के बाद भारतीय टीम लीग के अगले कुछ मैच विदेश में खेलेगी। दुनिया की दूसरे नंबर की टीम ऑस्ट्रेलिया ने भारत के खिलाफ पिछले 30 में से 22 मैच जीते हें। उसने 2016 में ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट मैच के बाद कभी पराजय का सामना नहीं किया। हाल ही में सर्वश्रेष्ठ कोच का एफआईएच पुरस्कार जीतने वाले कोलिन बैच ऑस्ट्रेलिया के कोच है।

ऑस्ट्रेलिया ने कलिंगा स्टेडियम पर चैम्पियंस ट्राॅफी 2014 सेमीफाइनल में जर्मनी से मिली हार के बाद निर्धारित समय में कोई मैच नहीं गंवाया है। इसी मैदान पर 2017 हाॅकी विश्व लीग फाइनल में सभी छह मैच जीतकर ऑस्ट्रेलिया अपराजेय रहा था। इसके बाद 2018 विश्व कप सेमीफाइनल में नीदरलैंड ने उसे पेनल्टी शूटआउट में हराया था। ऑस्ट्रेलिया इस समय लीग में चार मैचों में छह अंक लेकर पांचवें स्थान पर है। बेल्जियम के खिलाफ दो मैचों में उसे एक ही अंक मिला। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दो मैचों के बाद भारतीय टीम जर्मनी (25 और 26 अप्रैल) और ब्रिटेन (दो और तीन मई) में खेलेगी। इसके बाद 23 और 24 मई को न्यूजीलैंड से यहां खेलना है। फिर अर्जेंटीना में पांच और छह जून को खेलेगी और आखिरी चरण के मैच 13 और 14 जून को स्पेन के खिलाफ यहां खेले जाएंगे। 

.
.
.
.
.