Sports

पर्थ: गेंद से छेड़छाड़ की घटना के बाद से अपनी खोई प्रतिष्ठा हासिल करने के लिए जूझ रहे आॅस्ट्रेलिया ने अपने खिलाडिय़ों में अनुशासित बनाने के लिए ‘कुलीन ईमानदारी’ जैसे कुछ शब्द बोले हैं लेकिन अपने जमाने के दिग्गज स्पिनर शेन वार्न को टीम प्रबंधन का यह रवैया कतई पसंद नहीं है और उनका मानना है कि शब्दों से नहीं बल्कि काम से बदलाव लाया जाना चाहिए।
PunjabKesari,
दक्षिण अफ्रीका में गेंद से छेड़छाड़ की घटना के बाद आॅस्ट्रेलिया का किसी भी तरह से जीत दर्ज करने का रवैया खुलकर सामने आ गया। इसके बाद जस्टिन लैंगर को कोच बनाया गया जिन्होंने आॅस्ट्रेलियाई क्रिकेट को आगे बढ़ाने के लिए कुछ नए शब्द गढ़े हैं।  इससे पहले क्रिकेट आॅस्ट्रेलिया की संस्कृति पर पिछले सप्ताह एक समीक्षा रिपोर्ट आई थी।
PunjabKesari, Sports news, Cricket news hindi, Cricket australia, former player, shane warne, ball tampering, Eloquent honesty
उन्होंने कहा, ‘आखिर में क्रिकेट एक खेल है और यह प्रदर्शन पर आधारित खेल है। आपको मैदान पर अच्छा प्रदर्शन करना होता है। आप अपने प्रदर्शन से और मैदान पर जैसा खेल दिखाते हो उससे खुद को प्रेरित करते हो। इस तरह के शब्द या 200 पेज का दस्तावेज इसमें कोई भूमिका नहीं निभाता। मैदान पर उतरो और अच्छा खेल दिखाओ।’   
Sports news, Cricket news hindi, Cricket australia, former player, shane warne, ball tampering, Eloquent honesty
रिपोर्टों के अनुसार दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पर्थ में खेले गए पहले एकदिवसीय मैच के दौरान टीम के ड्रेसिंग रूम में कुछ शब्द लिखे गए थे जिनमें ‘कुलीन ईमानदारी’ भी एक शब्द था। प्रशंसक सोसल मीडिया पर इन शब्दों का खूब मजाक बना रहे हैं। बेबाक टिप्पणी करने वाले वार्न भला कैसे पीछे रहते। उन्होंने भी टेलीविजन पर कमेंट्री करते हुए इस नई संस्कृति की कड़ी आलोचना की।    

.
.
.
.
.