Sports

नयी दिल्ली : तरुण ढिल्लो और सुकांत कदम ने साओ पाउलो में ब्राजील पैरा बैडमिंटन इंटरनेशनल में ‘एसएल 4’ वर्ग में क्रमश: स्वर्ण और रजत पदक जीते जबकि तोक्यो पैरालम्पिक चैम्पियन प्रमोद भगत ने ‘एसएल 3’ स्पर्धा में दो कांस्य पदक हासिल किये । भारत की झोली में कुल 28 पदक गिरे । भारतीय पैरा बैडमिंटन दल ने आठ स्वर्ण, सात रजत और 13 कांस्य पदक जीते ।

‘एसएल 4’ वर्ग में दुनिया के तीसरे नंबर के खिलाड़ी कदम ने जर्मनी के मार्शल एडम को 21.19, 21.13 से हराया लेकिन फाइनल में तरुण से हार गए। तरुण और कदम का मुकाबला काफी रोमांचक रहा लेकिन आखिर में तरुण ने 21.17, 20.22 और 21.18 से जीत दर्ज की।
कदम ने कहा- मैं नतीजे से थोड़ा निराश हूं क्योंकि मैने सब कुछ लगा दिया था। तरूण ने बेहतर खेला और निर्णायक अंक बनाये । मैं हर टूर्नामेंट में अपने खेल में सुधार ला रहा हूं। दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी भगत को कुमार नितेश ने 21.7, 19.21, 21.19 से हराया। नितेश ने जापान के दाइसुके फुजीहारा को 21.15, 18.21, 21.18 से हराकर स्वर्ण पदक जीता।

मिश्रित युगल में प्रमोद भगत और पलक कोहली को जापान के फुजीहारा और अकिको सुगिनो ने तीन सेटों में हराया। नितेश और तरुण के अलावा पारूल परमार, ज्योति परमार, ज्योति वर्मा, मनीषा रामदास , हार्दिक मक्कड़, रूतिक रघुपति, अरवाज अंसारी, दीप रंजन बिसोयी, मनीषा रामदास, मनदीप कौर ने भी स्वर्ण पदक जीता।

प्रेम कुमार अले, मनदीप कौर, नित्या एस, पलक कोहली, पारूल परमार, चिराग बरेठा, मनदीप कौर, तरुण ढिल्लो, नितेश कुमार ने रजत पदक जीते। मनोज सरकार, निलेश गायकवाड़, धिंगाराम, अम्मु मोहन, मनोज सरकार, विक्रम कुमार, चिराग बरेठा, निलेश गायकवाड़, प्रेम कुमार, अबु हुबैदा, शशांक कुमार. अम्मु मोहन , अम्मु मोहन, अराती पाटिल, नित्या एस, लताताई उमरेकर, प्रमोद भगत, पलक कोहली ने कांस्य पदक जीते।

.
.
.
.
.