Sports

गुवाहाटी: 6 बार की विश्व विजेता एमसी मैरीकॉम (51 किलोग्राम भारवर्ग), अमित पंघल (52 किलोग्राम) और शिवा थापा (60 किलोग्राम) की स्वर्णिम कामयाबी के बाद मेज़बान भारत ने शुक्रवार को समाप्त हुए इंडिया ओपन अंतररष्ट्रीय मुक्केबाजी टूर्नामेंट के दूसरे संस्करण में 12 स्वर्ण,18 रजत और 27 कांस्य सहित कुल 57 पदक जीत लिए।

फाइनल के मौके पर असम के मुख्यमंत्री सरबानंद सोनोवाल और भारतीय मुक्केबाजी महासंघ (बीएफआई) के अध्यक्ष अजय सिंह मौजूद थे। करमबीर नबीन चंद्र बारदोलोई एसी इंडोर स्टेडियम में खेले गए इस टूर्नामेंट में भारत के शिवा थापा को सर्वश्रेष्ठ पुरूष मुक्केबाज़ घोषित किया गया। एशियाई चैम्पियनशिप की कांस्य पदक विजेता सरिता देवी ने 60 किलोग्राम भारवर्ग में स्वर्ण अपने नाम किया जो तीन साल में उनका पहला स्वर्ण पदक है। मैरीकॉम ने फाइनल में वेनिला दुआती को 5-0 से मात दी। यह मैरी का इंडिया ओपन का दूसरा स्वर्ण है।

इससे पहले वह 48 किलोग्राम भारवर्ग में स्वर्ण जीत चुकी हैं। पंघल ने फाइनल में हम वतन सचिन सिवाच को मात दी। शिवा ने अपने घर में बेहतरीन प्रदर्शन कर भारत के ही मनीष कौशिक को मात दी। इसी के साथ शिवा ने 2018 में मनीष के हाथों मिली हार का बदला भी ले लिया। गुवाहाटी के शिवा ने यह मैच 5-0 से जीता।सरिता देवी ने फाइनल में सिमरनजीत कौर को 3-2 से मात देते हुए स्वर्ण हासिल किया। यह सरिता का बीते तीन साल में पहला स्वर्ण है। इससे पहले वह दक्षिण एशियाई खेलों-2016 में स्वर्ण जीती थीं। उन्होंने यह पदक अपनी मां को समर्पित किया है। 57 किलोग्राम भारवर्ग के मुकाबले में नीरज ने मनीषा मौन को मात देकर सोने का तमगा हासिल किया।

.
.
.
.
.