Sports

लंदन : टिम पेन की टीम गुरुवार से शुरू हो रहे पांचवें और अंतिम टेस्ट में हार से बच जाती है तो यह विकेटकीपर बल्लेबाज इंग्लैंड की सरजमीं पर टेस्ट सीरीज जीतने वाले ऑस्ट्रेलियाई कप्तानों की सूची में शामिल हो जाएगा। पेन अगर यह उपलब्धि हासिल करते हैं तो ऑस्ट्रेलिया के कई दिग्गज कप्तानों को पीछे छोड़ देंगे जिसमें ग्रेग चैपल भी शामिल हैं। इसके अलावा रिकी पोंटिंग और माइकल क्लार्क जैसे दिग्गज बल्लेबाज और कप्तान तो दो प्रयासों में भी इंग्लैंड में एशेज सीरीज नहीं जीत पाए।

इंग्लैंड में पिछली बार एशेज सीरीज जीतने का सम्मान स्टीव वा को मिला था जिनकी अगुआई में ऑस्ट्रेलिया ने 18 साल पहले 4-1 से जीत दर्ज की थी। वा की तरह चैपल, पोंटिंग और क्लार्क भी ऑस्ट्रेलिया के महानतम क्रिकेटरों में शामिल रहे लेकिन उनकी अगुआई में टीम इंग्लैंड में एशेज सीरीज नहीं जीत पाई। पेन को बेहद मुश्किल समय में ऑस्ट्रेलिया की कप्तानी सौंपी गई। मार्च 2018 में केपटाउन में गेंद से छेड़छाड़ प्रकरण में तत्कालीन कप्तान स्टीव स्मिथ से कप्तानी छीने जाने और डेविड वार्नर को उप कप्तानी से हटाए जाने और दोनों पर क्रिकेट आस्ट्रेलिया द्वारा 12 महीने का प्रतिबंध लगाने के बाद पेन को टीम की बागडोर सौंपी गई।

पाकिस्तान के खिलाफ 2010 में लार्ड्स में ऑस्ट्रेलिया की ओर से टेस्ट में पदार्पण करने वाले पेन 2017 में क्रिकेट से संन्यास लेने और इसकी जगह खेल सामान बनाने वाली कंपनी के साथ जुड़ने के करीब थे। पेन हालांकि इसके बाद टीम में वापसी करने में सफल रहे और एक साल बाद केपटाउन प्रकरण के बाद उन्हें कप्तान बनाया गया। पेन पर आरोप लगे कि वह ‘दुर्घटनावश' कप्तान बने और टीम में उनका स्थान नहीं बनता लेकिन इस क्रिकेटर ने अपनी प्रतिष्ठा बनाए रखी और अब टीम को एशेज सीरीज जिताने की दहलीज पर ले आए हैं। 

.
.
.
.
.