T20-world-cup-2021
Sports

भुवनेश्वर : एफआईएच हॉकी पुरुष जूनियर विश्व कप 2021 के लिए अमेरिका और चिली की टीमें गुरुवार को भुवनेश्वर पहुंच गई। इससे पहले बुधवार रात को मलेशिया की टीम यहां पहुंची थी। अमरीकी टीम के मुख्य कोच पैट हैरिस ने एक बयान में कहा कि कैलिफोर्निया में हमारा कैंप था। लगभग 10 दिन का समय था, इसलिए हमने वहां एक प्रशिक्षण शिविर में भाग लिया। हम एक टीम के रूप में तैयारी कर रहे थे, इसलिए हम मैदान में उतरने के लिए तैयार हैं।

 

भुवनेश्वर के प्रतिष्ठित कलिंग स्टेडियम में प्रतिस्पर्धा करने को लेकर खिलाड़ी बहुत उत्साहित हैं। कई लोगों के लिए यह पहली बार है कि वे इस तरह के हॉकी माहौल में रहे हों। मुझे लगता है कि एक बड़े हॉकी स्टेडियम के साथ भारत के पास बहुत मजबूत हॉकी संस्कृति है, इसलिए मुझे यकीन है कि खिलाडिय़ों को सच में इस हॉकी स्टेडियम में खेलने में मजा आएगा। 

 

चिली के कप्तान निकोलस अबुजातुम ने टीम की तैयारियों के बारे में कहा कि हम काफी तैयारी कर रहे हैं। हम पैन-अमेरिकन चैंपियनशिप का हिस्सा थे, जो हमारी प्रक्रिया का एक बड़ा हिस्सा था। बाद में हमने अपने स्टाफ के साथ विश्व कप के लिए प्रशिक्षण जारी रखा। हम कलिंग स्टेडियम में खेलने के लिए उत्साहित हैं, क्योंकि हममें से ज्यादातर लोग इतने बड़े स्टेडियम में नहीं खेले हैं। 

इस बीच मलेशिया के मुख्य कोच वालेस टैन ने प्रतिष्ठित कलिंग स्टेडियम में खेलने की संभावना पर कहा कि हमारी टीम कलिंग स्टेडियम में खेलने के लिए बहुत उत्साहित है, क्योंकि यह एक बहुत बड़ा और प्रख्यात स्टेडियम है। यहां कई बड़े टूर्नामेंट आयोजित किए गए हैं और कई लीजेंड यहां खेले हैं, इसलिए यहां खेलना सम्मान की बात होगी। 

 

उल्लेखनीय है कि अमरीकी टीम 25 नवंबर को स्पेन के खिलाफ मुकाबले के साथ अपने अभियान की शुरुआत करेगी, जबकि चिली और मलेशिया, जिन्हें बेल्जियम और दक्षिण अफ्रीका के साथ ग्रुप ए में रखा गया है, 24 नवंबर को टूर्नामेंट के अपने पहले मैच में एक-दूसरे के सामने होंगे। पूल सी में अमेरिका के साथ कोरिया, स्पेन और नीदरलैंड मौजूद है। ग्रुप चरण में इन टीमों के बीच कड़े मुकाबले देखने को मिल सकते हैं।

.
.
.
.
.