Sports

नई दिल्लीः सितारों से सजी आईपीटीएल के प्रसारण में शामिल प्रोडक्शन कंपनी द्वारा बकाया नहीं चुकाए जाने को लेकर पैदा हुए विवाद के बीच लीग के संस्थापक मशहूर भारतीय टेनिस खिलाड़ी महेश भूपति ने कहा कि हालात के लिए वह जिम्मेदार नहीं हैं । भूपति ने 2014 में इंटरनेशनल प्रीमियर टेनिस लीग (आईपीटीएल) शुरू की थी जिसमें रोजर फेडरर, रफेल नडाल और सेरेना विलियम्स जैसे सितारों ने भाग लिया था । आर्थिक दिक्कतों के कारण 2016 के बाद लीग बंद हो गई । भारतीय डेविस कप टीम के गैर खिलाड़ी कप्तान भूपति पर टीपी प्रोडक्शन कंपनी ब्राडकास्ट स्पोटर्स न्यूज ने ‘व्यावसायिक आचार संहिता के उल्लंघन’ का आरोप लगाया है ।       

भूपति ने स्वीकार किया कि भुगतान में विलंब हुआ है लेकिन कहा है कि आईपीटीएल उनकी वजह से बंद नहीं हुई बल्कि एक टीम के मालिक लीजेंडरी ग्रुप द्वारा कथित तौर पर धोखेबाजी करने से उसका यह हश्र हुआ । ब्राडकास्ट स्पोटर्स न्यूज ने एक बयान में भूपति और आईपीटीएल पर लीग से जुड़े कई हितधारकों को भुगतान नहीं करने का आरोप लगाया। बयान में कहा गया ,‘‘ बाईस महीने बाद भी पूरा प्रोडक्शन दल, तकनीकी सेवा प्रदाता, सेटेलाइट अपलिंक और वितरण आपूर्तिकर्ता, चेयर अंपायर और कोर्ट सतह प्रदाता को उनके खर्च, वीजा का खर्च, दैनिक भत्ता और आवागमन का खर्च नहीं चुकाया गया है ।’’ 

भूपति ने संपर्क करने पर कहा ,‘‘ लीग से जुड़ा करीब 50 लाख डालर का भुगतान बकाया है । यह काफी दुखद है लेकिन हम इसे करके रहेंगे । प्रक्रिया में थोड़ा समय तो लगेगा ही ।’’ उन्होंने कहा ,‘‘ 2016 में आईपीटीएल की जापानी टीम के मालिक लीजेंडरी ग्रुप ने धोखा दिया और करीब 80 लाख डालर का भुगतान नहीं किया जिससे नौबत यहां तक आ गई ।’’ ऐसी भी खबरें हैं कि सिंगापुर स्लैमर्स ने भी आईपीटीएल को बकाया राशि को लेकर कानूनी नोटिस भेजा है लेकिन भूपति ने इससे इनकार किया । उन्होंने कहा ,‘‘ यह व्यवसाय है । उतार चढाव आते रहते हैं । यह मुझसे जुड़ा है और बाकियों को इससे परे रहना चाहिये ।’’ 

    

.
.
.
.
.