Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में आज रात अहम मुकाबले में भारतीय टीम का सामना न्यूजीलैंड से होना है। पहले मैच में पाकिस्तान के हाथों 10 विकेट से हार झेलने के बाद विराट कोहली की सेना के लिए अब हर मैच करो या मरो जैसा हो गया है। सेमीफाइनल की रेस में बने रहने के लिए टीम इंडिया को हर हाल में कीवी टीम को धाराशायी करना होगा। हालांकि, आंकड़ों के लिहाज से केन विलियमसन की टीम का पलड़ा भारी नजर आ रहा है। पिछले मैच की हार के  बाद विराट प्लेइंग इलेवन में बदलाव करने के मूड़ में दिख रहे हैं। 

Sports

पिछले रविवार को एक भ्रम टूटा था और अब आज के रविवार को दूसरा भ्रम भी टूटने वाला है|  जब टीम इंडिया संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में टी-20 विश्व कप में खेलने उतरी थी तो दुनिया भर के क्रिकेट प्रशंसकों को दो चीजें पता थीं। पहली तो कि भारत वनडे और टी-20 विश्व कप में पाकिस्तान से कभी हारा नहीं है और दूसरी न्यूजीलैंड से टी-20 विश्व कप में कभी जीता नहीं है। 

इसी पर एक बड़ा बयान पाकिस्तान के पूर्व कप्तान वसीम अकरम का कहना है कि न्‍यूजीलैंड के खिलाफ भारत को मुश्किल चुनौती का सामना करना है। दूसरी टीमें काफी मैच खेल चुकी हैं जबकि भारत अपनी बारी का इंतजार कर रहा है। एक हफ्ते का ब्रेक अभियान को मजबूती भी दे सकता है और कमजोर भी कर सकता है। टीम को एकजुट होकर वापसी करनी होगी। विराट कोहली ने सभी सही मुद्दों को उठाया है और अब देखना होगा क्‍या उनका एक्‍शन इसे सही साबित करता है या नहीं। 

पाकिस्तान से हारते ही टीम इंडिया का एक भ्रम तो टूट गया, अब विराट सेना न्यूजीलैंड को आज को दुबई अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में हरा दे तो दूसरा भ्रम भी टूट जाएगा, जिससे भारतीय प्रशंसकों को सुकून मिलेगा। यह भारत के लिए एक तरह से करो या मरो का मैच है, क्योंकि अगर टीम इंडिया सुपर-12 का यह मैच हारी तो उसकी सेमीफाइनल की राह बेहद मुश्किल हो जाएगी क्योंकि इसके बाद न्यूजीलैंड को स्काटलैंड, नामीबिया, अफगानिस्तान जैसी अपेक्षाकृत कमजोर टीमों से भिड़ना होगा। भारत की तरह कीवी भी पाकिस्तान से एक मैच हार चुके हैं।

.
.
.
.
.