Sports

नई दिल्ली: मैराथन में हिस्सा लेने को तैयार 73 साल की सुनीता प्रसन्ना का कहना है कि उनके लिए उम्र, सिर्फ एक नंबर पर है और वह यही साबित करने के लिए दौड़ती हैं। सुनीता पिछले 10 वर्षों में 75 से अधिक मैराथन में दौड़ चुकी हैं। सुनीता 24 फरवरी को होने वाले आईडीबीआई फेडरल लाइफ इंश्योरेंस नई दिल्ली मैराथन में हिस्सा लेने वाली सबसे उम्रदराज महिला धाविका होंगी। वह दूसरी बार आईडीबीआई फेडरल लाइफ इंश्योरेंस नई दिल्ली मैराथन में दौडऩे जा रही हैं। सुनीता रविवार को होने वाले इस मैराथन को लेकर बेहद उत्साहित हैं।

उन्होंने कहा, ‘मैं एक तेजतर्रार धावक तो नहीं हूं लेकिन मैं अपनी ताकत में विश्वास रखती हूं। मैं जो भी कुछ शुरू करती हूं, उसे हमेशा पूरा करती हूं। यह मेरा ²ढ़ संकल्प है और मुझे इस पर गर्व है।’ सुनीता बेंगलुरू स्थित एक आईटी कंपनी में एचआर के पद पर काम कर चुकी हैं। उन्होंने कहा कि जीवन के इस उम्र में आकर स्वस्थ रहना ही उनके लिए सबसे बड़ी खुशी है और वह स्वास्थ्य को ही सबसे बड़ा पूंजी मानती हैं। उन्होंने कहा, ‘मेरा मानना है कि स्वास्थ्य ही असली धन है।

स्वास्थ्य और फिटनेस, आपके जीवन में बेहद खुशियां लाती हैं, खासकर बुजुर्ग महिलाओं में। मेरा हमेशा से यह मानना रहा है कि दौडऩे और फिट रहने से भी जीवन में बहुत बीमारियों से बचा जा सकता है।’ सुनीता ने 63 साल की उम्र में मैराथन में दौडऩा शुरू किया था और पिछले 10 वर्षों में ही वह 75 से अधिक मैराथनों में दौड़ चुकी हैं। वह इससे पहले नई दिल्ली हाफ मैराथन और मुंबई मैराथनों में दौड़ी थीं। 

.
.
.
.
.