Sports

मोहाली: भारतीय विकेटकीपर रिद्धिमान साहा के चोटिल होने के बाद टीम में शामिल किए गए गुजरात के विकेटकीपर पार्थिव पटेल ने कहा कि उन्हें पता था कि उनको मौका मिलने जा रहा है। पार्थिव पटेल ने कहा, जब मैं घरेलू माहौल में 12 से 13 मैच खेलने जा रहा था तो मुझे पता था कि मुझे मौका मिलने जा रहा है। मैंने हमेशा रन बनाये और घरेलू क्रिकेट में भी बढिय़ा खेल रहा हूं। इसके बावजूद मैं भारत ‘ए’ टीम में नहीं लिया गया था।  

विकेटकीपर बल्लेबाज ने कहा कि मैंने हमेशा चयनकर्ताओं से इस बारे में बोला था और उन्होंने मुझे हमेशा अच्छा करने को कह रहे थे। सबसे बड़ी उम्मीद तब जगी थी जब मैं महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में एशिया कप में खेलने गया था। मैं जानता था कि मैं तैयार हूं। मैं कठिन मेहनत कर रहा हूं और मुझे टीम में शामिल करना कोई चौंकाने वाली खबर नहीं थी।

उन्होंने कहा, मुझे इसकी उम्मीद नहीं थी कि रिद्धिमान साहा चोटिल हो जायेंगे। यह सच में काफी दुर्भाग्यपूर्ण है लेकिन इससे इनकार नहीं किया जा सकता। मेरे दिमाग में यह बात है कि फिटनेस एक बड़ी ङ्क्षचता का विषय है इसलिए मैं वर्तमान में भारतीय टीम के फिटनेस ट्रेनर बासु सर की देखरेख में प्रशिक्षण ले रहा हूं। मैं इस ट्रेङ्क्षनग प्रोग्राम में खुद को बेहतर तैयार कर रहा हूं और इसमें मैं बहुत अच्छा प्रदर्शन कर रहा हूं।
नननन