Sports

नई दिल्ली: वनडे में अच्छा प्रदर्शन करने के बाद दक्षिण अफ्रीका के स्पिन गेंदाबाज इमरान ताहिर ने टी20 में भी शानदार गेंदाबाजी करते हुए अपनी फॉर्म को बनाए रखा है। दक्षिण अफ्रीका का मुकाबला भले ही एक कमजोर क्रिकेट टीम जिम्बाब्वे से था लेकिन रिकॉर्ड के लिहाज से हैट्रिक बहुत महत्वपूर्ण होती है और यह अपने आप में एक बड़ी बात है। अफ्रीका के स्पिनर ताहिर ने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए पांच विकेट हासिल किए। इस शानदार गेंदबाजी के बाद ताहिर ने अपनी इच्छा जाहिर की और कहा, 'काश मैं हैट्रिक ले पाता' ।
PunjabKesari
तीन मैचों की सीरीज में जिम्बाब्वे के खिलाफ पहले टी20 में ताहिर ने लगातार दो गेंद पर दो विकेट झटकाए, लेकिन हैट्रिक पूरी नहीं कर पाए। ताहिर ने अपने दूसरे स्पेल में हेमिल्टन मासाकाद्जा और तीरासाइ मुसाकांदा का विकेट दो लगातार गेंद पर हासिल किया, लेकिन हैट्रिक लेने से चूक गए।
PunjabKesari
जिम्बाब्वे के बल्लेबाजो ने अपना विकट बचा कर, ताहिर के हैट्रिक का सपना तोड़ दिया। उन्होंने मैच के बाद कहा, 'काश के मैं इस मैच में हैट्रिक ले पाता। मैं खुश हूं कि जैसा मैं चाहता था उस तरह का प्रदर्शन कर पाया। जब तक मैं टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन कर रहा हूं, खुश हूं।'
PunjabKesari
आगे उन्होंने बताया कि कैसे नई गेंद के साथ उन्होंने अभ्यास किया, 'मैंने नई और पुरानी दोनों गेंद से काफी प्रैक्टिस की ताकि सटीक गेंद डाल सकूं। मैं टी-20 में नई गेंद के साथ गेंदबाजी करता हूं। वनडे क्रिकेट में भी ऐसा करने के लिए सीख रहा हूं। मैं हमेशा इस बात में यकीन करता हूं कि हम जब चाहें सीख सकते हैं, सीखने के लिए कभी भी कोई ऊमर नहीं होती है।' सीरीज के पहले टी20 मुकाबले में अफ्रीका ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी करते हुए 160 रन बनाए थे। जिम्बाब्वे की टीम इमरान ताहिर की शानदार गेंदबाजी के आगे 17.2 ओवर में 126 रन ही बना सकी।

.
.
.
.
.