IPL 2019
Sports

नई दिल्ली: राष्ट्रमंडल खेलों में शानदार प्रदर्शन करने वाली मनिका बत्रा समेत टेबल टेनिस टीम के सदस्यों को टारगेट ओलम्पिक पोडियम के तहत अनुबंध में विस्तार दिया गया है जबकि बलात्कार के आरोपों के कारण ऐन मौके पर खेलों से बाहर किए गए सौम्यजीत घोष को योजना से बाहर कर दिया गया है। भारत ने गोल्डकोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में टेबल टेनिस में अभूतपूर्व सफलता हासिल करते हुए कुल आठ पदक जीते जिनमें से तीन स्वर्ण मनिका बत्रा को मिले। उसके अलावा पुरूष और महिला टीमों को भी रजत पदक मिले । भारतीयों ने रजत और तीन कांस्य पदक भी जीते।

भारतीय खेल प्राधिकरण की मिशन ओलम्पिक सेल की कल हुई बैठक में टारगेट ओलम्पिक पोडियम ( टाप्स ) के तहत खिलाडिय़ों के प्रदर्शन की समीक्षा की गई। इसके अलावा अभ्यास और प्रतिस्पर्धाओं के लिए धनराशि मुहैया कराने के खिलाडिय़ों के अनुरोध पर भी बात की गई। साइ की विज्ञप्ति के अनुसार राष्ट्रमंडल खेलों के बाद टाप्स में चार नए खिलाडिय़ों को शामिल किया गया और 21 खिलाडिय़ों की अवधि बढाई गई जबकि 27 को बाहर कर दिया गया है। टेबल टेनिस टीम से अचंत शरत कमल, हरमीत देसाई, जी साथियान, मनिका बत्रा, मोउमा दास और मधुरिका पाटकर की अवधि बढाई गई। 

वहीं बलात्कार के आरोपों के कारण खेलों से बाहर रहे सौम्यजीत घोष को इस योजना से हटा दिया गया है। 15 बरस के डबल ट्रैप निशानेबाज शारदुल विहान , 400 मीटर के बाधा धावक ए दारून , लंबी कूद के खिलाड़ी श्री शंकर और महिलाओं की चार गुणा 400 मीटर रिले टीम की सदस्य सोनिया बैस्या को टाप्स में जगह दी गई है।           राष्ट्रमंडल खेल 2014 की कांस्य पदक विजेता पैरा पावरलिफ्टर सकीना खातून राष्ट्रमंडल खेल तक ही इस योजना का हिस्सा थी लेकिन उनकी अवधि बढाई गई है।      

400 मीटर में शीर्ष छह धावकों और महिला वर्ग में चार धावकों की अवधि बढाने का फैसला लिया गया है। चार जिमनास्टों आशीष कुमार, राकेश पात्रा, अरूणा रेड्डी और प्रणिति नायक की अवधि में भी विस्तार किया गया है। समिति ने टाप्स में शामिल पांच भारतीय साइकिलिस्टों के लिए आधुनिक उपकरण खरीदने के लिये 33- 4 लाख रूपए मंजूर किए। एशियाई खेलों की तैयारी के लिए तैराक साजन प्रकाश को चार लाख 24 हजार रूपए, स्क्वाश खिलाड़ी दीपिका पल्लीकल और सौरव घोषाल को 14 लाख 70 हजार रूपए ( हवाई किराया और वीजा ) और टेनिस खिलाड़ी अंकिता रैना को आठ लाख 30 हजार रूपए ( प्रशिक्षण और प्रतिस्पर्धा खर्च ) मंजूर किए गए।

योजना से बाहर किए गए एथलीटों में आठ भारोत्तोलक, सात तीरंदाज, शीतकालीन खेलों के चार खिलाड़ी , चार एथलीट, दो निशानेबाज और टेबल टेनिस खिलाड़ी सौम्यजीत शामिल हैं।  

.
.
.
.
.