Sports

बेंगलुरूः भारत की स्टार टेनिस खिलाड़ी ने कहा कि उनके बेटे को अपना करियर चुनने की पूरी स्वतंत्रता होगी।  उन्होंने कहा, ‘‘मैंने और मेरे पति (शोएब मलिक) ने इस पर बात नहीं की है। वह डाक्टर बन सकता और जो भी वह बनना चाहे और इसी तरह से मेरे माता पिता ने मुझे पाला। मैं जो बनना चाहती थी उन्होंने मुझे उसकी छूट दी। हो सकता है कि मेरा बेटा खिलाड़ी नहीं बने। आप कुछ नहीं जानते।’’      

अभी कई भूमिकाएं निभानी हैं    
सानिया ने वर्ष 2019 के सत्र के आखिर में प्रतिस्पर्धी टेनिस में वापसी को अपना लक्ष्य बनाया है लेकिन उनका मानना है कि फिर से शीर्ष पर पहुंचना आसान नहीं होगा। सानिया ने हाल में पहले बच्चे को जन्म दिया। छह बार की ग्रैंडस्लैम चैंपियन ने अभ्यास शुरू कर दिया है। इस 32 वर्षीय हैदराबादी ने कहा कि उन्हें अब कई भूमिकाएं निभानी हैं और यह आसान काम नहीं है।
Shoaib Malik image           

सानिया ने कहा, ‘‘मैं ये भूमिकाएं निभाने में सक्षम हूं। मैं पिछले कुछ समय से पत्नी की भूमिका निभा रही थी। अब मैं मां बन गई हूं। मैं फिर से शीर्ष स्तर पर पहुंचने की कोशिश कर रही हूं। मैं जानती हूं कि यह आसान नहीं है लेकिन ऐसी कोशिश करने में कोई हर्ज नहीं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मेरा वास्तविक लक्ष्य खेल में वापसी करना है। संभवत: इस साल के आखिर में ऐसा हो सकता है। मैंने 2020 में वापसी के बारे में बात की थी। इसके पीछे कुछ कारण थे। मैं खुद पर दबाव नहीं बनाना चाहती थी और अब भी ऐसा ही है।’’           
 

.
.
.
.
.