Sports

नई दिल्ली : पूर्व कप्तान सरदार सिंह और पूर्व स्ट्राइकर दीपक ठाकुर को शनिवार को भारतीय पुरूष और महिला ‘ए' हॉकी टीमों का कोच नियुक्त किया गया जो बर्मिंघम में आगामी राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा लेंगी। वहीं एक हैरान करने वाली घटना में तोक्यो ओलंपिक कांस्य पदकधारी टीम के सदस्य रूपिंदर पाल सिंह और बीरेंद्र लकड़ा के अलावा अनुभवी फॉरवर्ड एसवी सुनील ने संन्यास से वापसी की। 

इन्हें बर्मिघंम राष्ट्रमंडल खेलों की टीम के लिए चयन के लिए योग्य 33 पुरूष कोर संभावित खिलाड़ियों में शामिल किया गया। इन तीनों ने पिछले साल तोक्यो ओलंपिक के बाद खेल से संन्यास ले लिया था। भारतीय पुरूष और महिला ‘ए' टीमें इस साल राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा लेंगी। हॉकी इंडिया ने राष्ट्रमंडल और हांगजोऊ एशियाई खेलों के बीच कम समय को देखते हुए बर्मिंघम में अपनी मुख्य टीम नहीं भेजने का फैसला किया था। 

राष्ट्रीय महासंघ ने शनिवार को ही भारत ‘ए' पुरूष और महिला कोर संभावित ग्रुप के लिए 33-33 खिलाड़ियों के नाम की घोषणा भी की। दोनों टीमें सात मार्च से बेंगलुरू के साई सेंटर में राष्ट्रीय शिविर की शुरूआत करेंगी। हॉकी इंडिया के अध्यक्ष ज्ञानेंद्रो निंगोम्बाम ने एक बयान में कहा कि हम दीपक ठाकुर और सरदार सिंह जैसे दिग्गजों के राष्ट्रीय कोचिंग कार्यक्रम में जुड़ने से काफी खुश हैं। उनके अनुभव से खिलाड़ियों को काफी फायदा मिलेगा। 

.
.
.
.
.