Sports

नई दिल्ली : हाल ही में आईपीएल मैच में आर अश्विन द्वारा मांकड़िंग के शिकार इंग्लैंड के बल्लेबाज जोस बटलर ने मांग की है कि अधिकारियों को बल्लेबाज को आउट करने के इस विवादित तरीके के कमजोर पहलुओं को दुरूस्त करना चाहिए। बटलर के विकेट से इस मसले पर नई बहस छिड़ गई और क्रिकेट जगत की इस पर मिली जुली राय है। एमसीसी ने पहले कहा कि अश्विन ने कुछ गलत नहीं किया लेकिन अगले दिन उसके एक प्रतिनिधि ने कहा कि ‘विराम बहुत लंबा था और यह खेलभावना के अनुरूप नहीं था।’ 

बटलर ने भी मांकड़िंग पर अपनी राय रखते हुए कहा, ‘मांकड़िंग खेल के नियम में होना चाहिए क्योंकि बल्लेबाज क्रीज छोड़कर बाहर नहीं निकल सकता। लेकिन मेरा मानना है कि इसमें कुछ कमजोरियां भी है मसलन गेंदबाज को गेंद कब छोडऩी चाहिए।’ उन्होंने कहा, ‘अगर आप फुटेज देखें तो उस समय गलत फैसला लिया गया क्योंकि जब वह गेंद छोडऩे वाला था, तब मैं क्रीज के भीतर था।’ बटलर ने स्वीकार किया कि यह अच्छा वाकया नहीं था। 

उन्होंने कहा, ‘जो हुआ वह सही नहीं था और मैं उससे सहमत नहीं था लेकिन आप क्या कर सकते हैं। एक-दो दिन बाद मैं इसे भूल गया और अब यह सुनिश्चित करूंगा कि आगे ऐसा नहीं होने पाए।’

.
.
.
.
.