Sports

राजकोट : वैस्टइंडीज के खिलाफ पदार्पण टैस्ट में शतक लगाकर क्रिकेट फैंस की नजरों में शाने वाले 18 साल के भारतीय बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड लेने के बाद कहा कि उन्होंने अपने पहले ही टैस्ट में ऐसे प्रदर्शन की कल्पना भी नहीं की थी। पृथ्वी को पदार्पण टैस्ट में कप्तान विराट कोहली ने ओपनिंग का सुनहरा मौका दिया था जिसे उन्होंने भुनाते हुए 134 रनों की शतकीय पारी खेल डाली। वह इसके साथ ही पदार्पण टैस्ट में शतक लगाने वाले भारत के सबसे युवा बल्लेबाज भी बन गए। 

PunjabKesari
पृथ्वी बोले- जब भी आप अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलते हैं तो आपके लिए बहुत चुनौतीपूर्ण होता है। मैं लेकिन अपना स्वाभाविक खेल खेलना चाहता था। मैंने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में खेला है और उसका अनुभव मुझे काम आया। मुझे बहुत अच्छा लग रहा है। यह बड़ी जीत है। मैंने जैसे स्कोर किया और पदार्पण मैच में ही टीम को जीत में मदद की उसकी मैंने कल्पना भी नहीं की थी। 

PunjabKesari

बता दें कि भारत ने वेस्टइंडीज को पारी और 272 रन से हराकर शनिवार को तीन दिन के भीतर ही हराकर अपनी टैस्ट इतिहास की सबसे बड़ी जीत दर्ज कर ली।  पृथ्वी को उनके करिश्माई प्रदर्शन की बदौलत मैन ऑफ द मैच चुना गया।

.
.
.
.
.