Sports

हैमिल्टन: भारतीय कप्तान मिताली राज शुक्रवार को 200 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच खेलने वाली पहली महिला क्रिकेटर बन गई लेकिन इस धुरंधर खिलाड़ी के लिए 200 वनडे महज एक आंकड़ा है। मिताली ने जनवरी 1999 में इंग्लैंड के खिलाफ वनडे क्रिकेट में पदार्पण किया था। वह शुक्रवार को 50 ओवरों के प्रारूप में अंतरराष्ट्रीय मैचों का दोहरा शतक जमाने वाली पहली महिला बन गई। 

200 मेहज सिर्फ एक आंकड़ा  
PunjabKesari
छत्तीस बरस की मिताली वनडे क्रिकेट में सात शतक समेत 51.33 की औसत से सर्वाधिक 6622 रन बना चुकी हैं। मिताली ने न्यूजीलैंड से श्रृंखला 2-1 से जीतने के बाद कहा, ‘200 महज एक आंकड़ा है लेकिन इतना लंबा सफर तय करके अच्छा लग रहा है।’ उसने कहा, ‘मैने 1999 से अब तक दुनिया भर में महिला क्रिकेट के विभिन्न चरण देखे हैं । आईसीसी के तहत आने के बाद हमें फर्क पता चला। मुझे खुशी है कि इतने लंबे समय तक देश के लिए खेल सकी।’ 

क्रिकेट करियर में उतार- चढाव जिंदगी का हिस्सा 
PunjabKesari
मिताली ने आगे कहा, ‘जब मैने शुरू किया था तो मुझे लगा नहीं था कि इतनी दूर तक पहुंच सकूंगी। मेरा लक्ष्य सिर्फ भारत के लिए खेलना भर था लेकिन मैने कभी नहीं सोचा था कि इतने लंबे समय तक खेलूंगी।’ पिछले कुछ अर्से में पूर्व कोच रमेश पोवार के साथ मतभेदों के कारण सुर्खियों में रही मिताली ने कहा, ‘जब आपको कैरियर लंबा हो तो कई चीजों का अनुभव होता है। मैने हालात के अनुरूप अपना खेल बदला है और अंतरराष्ट्रीय स्तर के अनुरूप चलने की कोशिश कर रही हूं।’ उसने कहा, ‘मैने उतार-चढाव, खुशियां सब देखी है। मैं उन सभी की शुक्रगुजार हूं जिन्होंने इस सफर में मेरा साथ दिया।’ वह अपने 200वें मैच में 28 गेंदों में नौ रन ही बना सकी। भारतीय टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे और आखिरी वनडे में 149 रन पर आउट हो गई। मिताली ने दूसरे वनडे में नाबाद 63 रन बनाये । मिताली 10 टेस्ट और 85 टी20 मैच भी खेल चुकी है ।

.
.
.
.
.