Sports

स्पोटर्स डेस्क (अतुल वर्मा): राजस्थान और तेलंगाना में विधानसभा चुनाव को लेकर वोटिंग चल रही है। क्या आम, क्या खास, हर कोई अपने वोट का इस्तेमाल करने के लिए पोलिंग बूथ पर पहुंच रहा है, लेकिन बैडमिंटन स्टार ज्वाला गुट्टा अपना वोट डालना तो दूर पोलिंग बूथ तक भी नहीं पहुंच पाई और इसकी सबसे बड़ी वजह है वोटर लिस्ट में उनके नाम ना होना। जिस पर ज्वाला भड़क उठीं और उन्होंने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट कर अपनी नाराजगी जाहिर की। वहीं दिल्ली के सीएम केजरीवाल और डिप्टी सीएम सिसोदिया ने भी वोटर लिस्ट में ज्वाला गुट्टा का नाम ना होने पर सवाल उठाए और चुनाव आयोग को आड़े हाथ लेते हुए जमकर बरसे।

वोटर लिस्ट में नाम ना होने पर ज्वाला ने कहा- ये कैसा निष्पक्ष चुनाव

Jwala Gutta Tweet

वोटर लिस्ट में नाम ना होने और अपना वोट ना डाल पाने से नाराज ज्वाला गुट्टा ने अपने ट्विटर अकाउंट से दो ट्वीट किए। अपने पहले ट्वीट में ज्वाला ने लिखा, “ऑनलाइन जांच के बाद भी मुझे आश्चर्य हो रहा है कि वोटर लिस्ट से मेरा नाम गायब है।

Jwala Gutta Tweet

वहीं अपने दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा, “आखिर ये कैसा निष्पक्ष चुनाव है, जब मेरा नाम ही अजीब तरीके से लिस्ट से गायब है”। वहीं ज्वाला के ट्वीट के बाद उनके फैन्स ने अलग-अलग प्रतिक्रियाएं दी। उनके ट्वीट के बाद एक यूजर ने लिखा कि उनके परिवार का नाम भी वोटर लिस्ट में नहीं है, जबकि उनका परिवार पिछले 30 साल से हैदराबाद में रह रहा है।

ट्विटर पर आते सवालों के बाद ज्वाला ने पोस्ट की एक वीडियो

ज्वाला के ट्वीट के बाद सिसोदिया ने किया ट्वीट, EC पर जमकर बरसे

Manish Sisodia Tweet

ज्वाला गुट्टा के वोट ना डाल पाने की जानकारी मिलने के बाद दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने एक ट्वीट कर चुनाव आयोग पर जमकर निशाना साधा। अपने ट्वीट में सिसोदिया ने लिखा, “बैडमिंटन चैंपियन, अर्जुन अवॉर्डी पूछ रही हैं कि उनका वोट कहां है? क्या चुनाव आयोग के पास इसका कोई जवाब है? ओह! मुझे लगता है आप बीजेपी वॉर रूम में रणनीतियां बनाने में व्यस्त होंगे”।

सिसोदिया के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी किया ट्वीट

Kejriwal Tweet

वहीं मनीष सिसोदिया के बाद दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने भी इस पर प्रतिक्रिया देते हुए एक ट्वीट किया। अपने अधिकारिक ट्विटर अकाउंट से एक ट्वीट पोस्ट कर केजरीवाल ने लिखा कि चुनाव के मौसम में चीजें पूरे देश में हो रही हैं”।

.
.
.
.
.