Sports

नई दिल्ली : एशिया कप में एक बार फिर से पाकिस्तान टीम का प्रदर्शन खराब रहा। हालांकि पाकिस्तान को खिताब के लिए दावेदार के तौर पर जरूर देखा जा रहा था लेकिन अहम मैचों में कम रैंकिंग वाली टीमों से हारकर पाकिस्तान फाइनल में जाने से चूक गया। पाकिस्तान की नाकामी की सबसे बड़ी वजह तो कप्तान सरफराज अहमद को ही माना गया। सरफराज के कई फैसले संदिग्ध रहे। उनका बल्ला भी खामोश रहा। एशिया कप के पांच मैचों में वह 68 रन ही बना पाए। ऊपर से गेंदबाजों के सिलेक्शन पर भी तरह-तरह से ऊंगलियां उठीं। इस बीच खबर उठी थी कि पाकिस्तान टीम के बुरे प्रदर्शन की गाज कप्तान सरफराज पर गिर सकती है। हालांकि टीम के चयनकत्र्ता इंजमाम उल हक इससे इंकार कर रहे हैं।

PunjabKesari

इंजमाम का कहा है कि सिर्फ एक टूर्नामैंट में खराब प्रदर्शन को देखते हुए टीम की कप्तानी बदलने की जरूरत नहीं है। हमें सरफराज की कप्तानी को लेकर कोई सवाल नहीं हैं। बहरहाल, जैसी हमने उम्मीद की थी उस हिसाब से कप्तान और टीम नहीं खेली, लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि हमें कप्तानी पद से सरफराज को हटाना होगा। मुझे अभी भी सरफराज की कप्तानी पर पूरा यकीन है।

.
.
.
.
.