Sports

जालन्धर : भारत और इंगलैंड के बीच चल रही पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में भारत 1-3 से पिछडऩे के बावजूद भी गेंदबाजी क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन कर रहा है। हालांकि इंगलैंड के मध्यक्रम बल्लेबाजों को जल्द आऊट न कर पाना भारतीय गेंदबाजों के लिए अभी भी सिरदर्द बना हुआ है लेकिन जिस तरह भारत के तेज गेंदबाजों ने इंगलैंड का ऊपरी क्रम हर मैच में जल्दी ध्वस्त किया है उस हिसाब से उन्हें पूरे माक्र्स दिए जा सकते हैं। दरअसल भारत-इंगलैंड टेस्ट सीरीज में भारतीय तेज गेंदबाज (द ओवल में इंगलैंड की पहली पारी तक) 59 विकेट झटक चुके हैं। इससे पहले 1979/80 में जब भारत पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज खेल रहा था तब भारतीय तेज गेंदबाजों ने 58 विकेट झटके थे। 

साऊथ अफ्रीका टुअर पर भी झटके थे 50 झटके

PunjabKesari
भारतीय तेज गेंदबाजों का शानदार प्रदर्शन इसी साल जनवरी में हुए साऊथ अफ्रीका के साथ टेस्ट सीरीज में भी जारी रहा था। यहां उन्होंने पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में 50 विकेट झटके थे। मोहम्मद शमी तब सबसे सफल भारतीय तेज गेंदबाज रहे थे। उन्होंने कुल 15 विकेट झटके थे। इसके बाद जसप्रीत बुमराह ने 14, भुवनेश्वर कुमार ने 10, ईशांत शर्मा ने 8 तो हार्दिक पांड्या ने 3 विकेट झटके थे। अब इंगलैंड टूर के पांचवें टेस्ट में अभी इंगलैंड की दूसरी पारी आनी बाकी है। ऐसे में पूरी उम्मीद है कि भारतीय तेज गेंदबाज अपने विकेटों का कोटा और बढ़ा कर लेंगे।

38 साल कपिल देव ने बनाया था बड़ा रिकॉर्ड
PunjabKesari

पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट झटकने का रिकॉर्ड कपिल देव के नाम पर हैं। कपिल ने 1979/80 के दौरान पाकिस्तान के साथ खेली गई सीरीज में अकेले ही 32 विकेट झटके थे। इस पूरी सीरीज में भारत ने कपिल के अलावा गावरी 15 और बिन्नी ने 11 विकेट लेकर कुल सीरीज में 58 विकेट झटके थे। इसी सीरीज का भारतीय तेज गेंदबाजों का यह रिकॉर्ड मौजूदा टीम ने इंगलैंड में तोड़ा है। बता दें कि 1991/92 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज के दौरान भारतीय तेज गेंदबाजों ने 57 विकेट (कपिल देव 25, मनोज प्रभाकर 19, श्रीनाथ 10 और बैनर्जी 3) झटके थे।

.
.
.
.
.