Sports

एडीलेड : भारतीय कप्तान विराट कोहली ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टेस्ट के तीसरे दिन शनिवार को जब बल्लेबाजी के लिए मैदान में जा रहे थे तब यहां स्टेडियम में मौजूद ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों के एक वर्ग ने उनकी हूटिंग शुरू कर दी। लोकेश राहुल के आउट होने के बाद कोहली बल्लेबाजी के लिए उतरे। कोहली को पहली पारी के दौरान भी ऐसी स्थिति का सामना करना पड़ा।

PunjabKesari

ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ट्रेविस हेड और पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग ने हालांकि दर्शकों के इस आचरण की आलोचना की। हेड ने कहा- वह शानदार बल्लेबाज है और शायद ऐसा खिलाड़ी नहीं है जिसकी हूटिंग की जाए। इसकी जरूरत नहीं थी लेकिन वे दर्शक हैं। तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि भारतीय टीम ऐसी चीजों को नजरअंदाज करना चाहती है। उन्होंने कहा- मुझे नहीं लगता कि हमारे लिए ये चीजें मायने रखती है। हमारे लिए मैदान के अंदर जो हो रहा वह महत्वपूर्ण है। इसके अलावा किसी और बात पर हमारा नियंत्रण नहीं है। वे जो चाहते हैं, कर सकते है। हम जब तक अच्छा खेल रहे हैं तब तक खुश हैं।

PunjabKesari

पोंटिंग ने भी दर्शकों के रवैये पर हैरानी जताते हुए कहा- मुझे यह देखकर बिल्कुल अच्छा नहीं लगा। उन्होंने कहा-एक खिलाड़ी के तौर पर जब मेरे साथ इंग्लैंड में ऐसा हुआ था तब मैं बिल्कुल भी चिंतित नहीं हुआ था। कोहली के साथ हालांकि यह पहली बार नहीं हुआ है। 2011-12 के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भी उन्हें सिडनी के मैदान में दर्शकों की हूटिंग का सामना करना पड़ा था। इस साल इंग्लैंड दौरे पर एजबेस्टन में पहले टेेस्ट मैच में दर्शकों के ऐसे व्यवहार का सामना करना पड़ा था। आईपीएल में मुंबई इंडियन्स के खिलाफ मैच वानखेडे स्टेडियम में भारतीय दर्शकों ने रॉयल चैलेंजर बेंगलूर के इस कप्तान की हूटिंग की थी।

.
.
.
.
.